Breaking NewsIndia- World देश-दुनिया

योग दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक साथ 337 हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर का किया लोकार्पण

युवाओं को नशे से दूर रहने का किया आह्वान

चंडीगढ़, 21 जून – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि युवाओं को योग दिवस पर नशे से दूर रहने का संकल्प लेना चाहिए। इसके लिए अधिक से अधिक मेडिसन् वाले पौधे लगाएं और उनका नशे से निजात पाने में  उपयोग करें ताकि योग दिवस को  निरोग दिवस के रूप  में भी मनाया जा सके।

मुख्यमंत्री आज स्थानीय भीम स्टेडियम में आयोजित 8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राज्य स्तरीय योग समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नशे का प्रचलन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है, जो समाज के लिए घातक ही नहीं बल्कि नासूर बनता जा रहा है। इसलिए युवाओं को योग दिवस पर नशे से दूर रहने का प्रण लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं को एक पेड़ लगाकर धरती को भी हरा भरा बनाने में अहम योगदान देना चाहिए। पेड़ लगाकर उनकी लगातार तीन साल तक सुरक्षा भी करना अनिवार्य है, इससे पर्यावरण भी शुद्ध होगा और लोगों को स्वच्छ वातावरण होगा।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज विश्व योग दिवस के पावन अवसर पर प्रत्येक नागरिक को प्रतिदिन योग करने का संकल्प लेना चाहिए। योग से मनुष्य का शरीर पूर्ण रूप से स्वस्थ रहता है और वह दीर्घायु होता है। उन्होंने कहा कि योग को आगे बढ़ाने के लिए पहली से 12वी तक स्कूलों के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा, ताकि विद्यार्थी इसे आसानी से अपना कर लाभान्वित हो सकें। इसके साथ ही योग शिक्षक एवं स्वयं सेवक तैयार हो सकेंगे। कॉलेज स्तर पर युवा आयुष की डिग्री भी ले सकेंगे। इसके लिए झज्जर के गांव देवरखाना में स्नातकोत्तर योग, प्राकृतिक चिकित्सा एवं अनुसंधान संस्थान स्थापित किया जा रहा है। इसके अलावा पंचकूला में आयुष का एम्स भी बनाया जा रहा है, जिसका भवन शीघ्र ही बनकर तैयार हो जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मनुष्य को अगर स्वस्थ रहना है तो जीवन मे योग को अवश्य ही अपनाना होगा। उन्होंने स्वयं लगातार दो घंटे तक योग क्रियाएं कीं ओर लोगों को योग के प्रति प्रोत्साहित किया। योग से  शरीर स्वस्थ ही नहीं रहता बल्कि कई बीमारियों से भी निजात पाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग को अपनाते हैं तो बीमारियों से मुक्ति मिलेगी और स्वास्थ्य विभाग का खर्च भी बचेगा जिसे अन्य कार्यो पर खर्च किया जा सकेगा। इसके लिए सरकार की ओर से 1000 योगशालाएं एवं व्यायाम शालाएं खोली जा रही है। उन्होंने कहा कि योग दिवस को निरोग दिवस के रूप में मनाएं और योग को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच हजार साल पहले ऋषि-मुनियों ने योग साधना  को अपनाया और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में योग को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता प्राप्त करने का प्रस्ताव रखा था, जिसका 177 देशों ने समर्थन किया। अब विश्व के 200 से अधिक देशों ने योग को मान्यता दी है। मुख्यमंत्री ने योग गुरू बाबा राम देव का भी आभार जताया जिसने योग के प्रति लोगों को जागरूक किया।

अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश के 419 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में आयुष उपचार की सुविधा प्रदान करने के लिए आयुष सेल स्थापित करने की स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके अलावा कई जिला मुख्यालय एवं उपमंडल स्तर के अस्पतालों में हैल्थ एंड वैलनेस केंद्र भी स्थापित किए जा रहे है।  कुरूक्षेत्र में श्री कृष्णा आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। इसके अलावा बाबा खेतानाथ राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज एवं अस्पताल, नारनौल का निर्माण कार्य किया जा रहा है।

कार्यक्रम को आयुष विभाग के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार ने संबोधित करते हुए कहा कि भिवानी के लोगों के लिए यह हर्ष का विषय है कि 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का राज्य स्तरीय समारोह यहां भीम स्टेडियम में आयोजित किया जा रहा है। इसके अलावा नागरिक अस्पताल की आयुष विंग में पंचकर्मा विद्या का एक केंद्र भी खोला गया है जिसका लोगों को आवश्य लाभ उठाना चाहिए।

मुख्मंत्री ने जताया इंद्रदेव का आभार
21 जून वर्ष के 365 दिनों में सबसे बड़ा दिन होता है, इस दिन भयंकर गर्मी होती है। आज राज्य स्तरीय समारोह में इंद्रदेव भी मेहरबान हुए और मौसम को सुहाना बनाया। इसके लिए मुख्यमंत्री ने बार-बार इंद्रदेव का आभार जताया।
इस अवसर पर भिवानी के विधायक घनश्याम सर्राफ एवं बवानी खेड़ा के विधायक बिशंभर बाल्मीकि, एडीजीपी सीआईडी आलोक मित्तल, रोहतक रेंज की महानिरीक्षक डॉ. ममता सिंह, उपायुक्त आरएस ढिल्लो, एसपी अजीत शेखावत भी मौजूद रहे।

Donate Now
Back to top button