CrimeIndia- World देश-दुनियाराजनीती

अग्निपथ : बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और राजस्थान सहित 10 से अधिक राज्यों में हिंसा की खबरें

केंद्र की नई सैन्य भर्ती योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ सशस्त्र बलों के उम्मीदवारों का विरोध देश भर के कई हिस्सों में तेज हो गया है। बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और राजस्थान सहित 10 से अधिक राज्यों से हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं। शुक्रवार को इस स्कीम के खिलाफ आंदोलन में तेलंगाना के सिकंदराबाद में एक व्यक्ति की मौत भी हो गई। हालांकि केंद्र सरकार ने इसमें उम्र सीमा साढ़े 17 से 21 साल के को अधिकतम 23 साल बढ़ा दिया है लेकिन, सैन्य सेवा में चार साल की भर्ती वाली शर्त पर देशभर के युवाओं में उबाल है। बिहार में कई ट्रेनों को आग के हवाले किया गया। यूपी के अलीगढ़ में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी फूंक दी और दारोगा की गाड़ी में आग लगा दी। कानपुर में सोशल मीडिया के जरिए हिंसा भड़काने का मामला भी सामने आया। बिहार और हरियाणा के कुछ जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। सुरक्षा एजेंसियों ने केंद्र को बड़े खतरे के लिए सचेत किया है। इन सबके बीच वायुसेना ने भर्ती का ऐलान किया तो सेना प्रमुख दो दिन नोटिफिकेशन जारी करने की बात कह चुके हैं।

 

बिहार के 12 जिलों और हरियाणा के महेंद्रगढ़ में इंटरनेट बंद
अग्निपथ स्कीम के खिलाफ हिंसा को रोकने के लिए बिहार और हरियाणा सरकार ने इंटरनेट बंद करने के निर्देश दिए। बिहार के 12 जिलों और हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में इंटरनेट बंद रहेगा। बिहार में यह निर्देश 48 घंटे तो हरियाणा में 24 घंटे तक के आदेश लागू हैं। गुरुग्राम में धारा 144 लागू की गई है।

एजेंसियों ने राज्यों को अलर्ट किया
13 राज्यों में फैली हिंसा के बीच सुरक्षा एजेंसियों को साजिश और हमले के इनपुट मिले हैं। जिसके बाद केंद्र सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है। साथ ही राज्यों को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।

यूपी में उपद्रवियों पर गंभीर धाराएं
यूपी में योगी आदित्यनाथ सरकार ने सड़क पर हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। योगी सरकार उपद्रवियों के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत कई गंभीर धाराएं लगाएगी ताकि उन पर सख्त ऐक्शन लिया जा सके।

 

कई ट्रेनों में आगजनी, 300 से ज्यादा प्रभावित
रेलवे अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने अब तक कम से कम सात ट्रेनों के डिब्बों में आग लगा दी है। उन्होंने कहा कि पूर्व-मध्य रेलवे में तीन चलती ट्रेनों के डिब्बे और उसी क्षेत्र के कुल्हरिया में एक खाली रेक को प्रदर्शनकारियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। रेलवे ने कहा कि 300 से अधिक ट्रेनें प्रभावित हुई हैं, जबकि अन्य 200 ट्रेनों को योजना के विरोध के कारण रद्द कर दिया गया है।

बिहार में डिप्टी सीएम के घर हमला
बिहार की उपमुख्यमंत्री रेणु देवी के बेतिया जिले में घर पर दिन में प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। इसके बाद वो अग्निपथ योजना के समर्थन में सामने आईं और विपक्षी दलों पर ‘छात्रों को गुमराह करने’ का आरोप लगाया और कहा कि उनके गुंडे सार्वजनिक संपत्ति को नष्ट कर रहे हैं।

 

एयरफोर्स ने भर्ती का ऐलान किया
अग्निपथ स्कीम को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच  IAF प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने कहा कि वायु सेना 24 जून को नए मॉडल के तहत चयन प्रक्रिया की शुरुआत करेगी। वहीं इससे पहले सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि सेना के पहले अग्निवीर इस साल के अंत तक भर्ती केंद्रों पर प्रशिक्षण शुरू कर देंगे।

सिकंदराबाद में गोलीबारी से एक की मौत
तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद शहर में विरोध के बीच एहतियात के तौर पर मेट्रो रेल सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस द्वारा की गई गोलीबारी में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर एक व्यक्ति की मौत हो गई। एक वरिष्ठ अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया, “आम रेलवे पुलिस (जीआरपी) के जवानों को लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले दागने के बाद भीड़ पर गोलियां चलाने के लिए मजबूर होना पड़ा था।”

 

विपक्ष ने मोदी सरकार पर निशाना साधा
अग्निपथ स्कीम के विरोध में विपक्षी पार्टियों ने मोदी सरकार पर हमला बोला। महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार में सहयोगी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने इस योजना को बेरोजगार युवाओं के साथ एक क्रूर मजाक करार दिया। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सोचती है कि लोग फ़ौज में नौकरी करने जाते हैं, दरअसल युवा देश-प्रेम के जज़्बे से सेना में जाते हैं, लेकिन ये वो क्या जानें जिन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन तक में हिस्सा ही न लिया हो। उधर, एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सेना में भर्ती की नई योजना अग्निपथ के लिए मोदी सरकार को जमकर कोसा है। अग्निपथ को लेकर देश के कई हिस्सों में हो रही हिंसा के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए ओवैसी ने पीएम से अपील की है कि वह इस स्कीम को वापस ले लें।

उम्मीद नहीं थी इतना विरोध झेलना होगाः नौसेना चीफ
अग्निपथ योजना के विरोध के नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार का बड़ा बयान सामने आया। नौसेना प्रमुख ने कहा कि उन्हें योजना को लेकर इस तरह के व्यापक हिंसक विरोध प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए नौसेना प्रमुख ने कहा, ‘मुझे इस तरह के किसी विरोध प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की थी। हमने करीब डेढ़ साल तक अग्निपथ योजना पर काम किया…’।

रक्षा मंत्री, गृह मंत्री मे युवाओं की चिंताओं को दूर करने की कोशिश की

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने भर्ती योजना को लेकर पैदा चिंताओं को दूर करने की कोशिश की लेकिन आक्रोशित युवाओं ने ईंट-पत्थर, लाठियां लिए हुए कई जगह रेलवे परिसर में बवाल मचाया और विभिन्न शहरों, कस्बों में राजमार्गों को अवरूद्ध कर दिया। रेलवे अधिकारियों ने कहा कि 340 ट्रेन का परिचालन प्रभावित हुआ और अब तक 234 ट्रेन रद्द की जा चुकी हैं। अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारी अब तक सात ट्रेनों के डिब्बों को आग लगा चुके हैं। प्रदर्शनकारियों ने पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) जोन में तीन चलती ट्रेनों के डिब्बों और उसी जोन के कुल्हरिया में एक खाली बोगी को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के बलिया में धुलाई के लिये कतार में खड़ी एक ट्रेन की एक बोगी को भी नुकसान पहुंचाया गया। ईसीआर जोन में अब तक 64 ट्रेन को गंतव्य से पहले ही रोक दिया गया है।

Donate Now
Back to top button