हरियाणा

सिरसा में किसानों ने दुष्यंत चौटाला के आवाज को घेरने की कोशिश की

किसान को बंदूक और लाठी से नहीं दबाया जा सकता :मंदीप नथवान

राजेन्द्र कुमार

सिरसा। किसान आंदोलन के दौरान केंद्र व राज्य सरकार की ओर से किसानों के साथ किए गए वायदों को लंबा समय बीत जाने के बावजूद पूरा नहीं किया जा रहा है। किसान जब उस आंदोलन व समझौते की सरकार को याद दिलाते हैं तो सरकार किसानों को बंदूक और लाठी के दम पर दबाना चाहती है हरगिज ऐसा संभव नहीं है। उपरोक्त विचार पगड़ी संभाल जट्ट के अध्यक्ष मंदीप नथवान ने आज यहाँ दुष्यंत चौटाला के आवास को घेरने के दौरान बाबा भूमन शाह चौक पर एकत्रित हुए किसानों को संबोधित करते हुए कहे।

सिरसा में आंदोलनरत्त किसान तहसीलदार को ज्ञापन सौपते किसान नेता मन्दीप नथवान व अन्य।

इससे पहले किसान जाट धर्मशाला में एकत्रित हुए और एक सभा की ,इस सभा में आंदोलन के दौरान किसानों पर बने मुकदमों को वापस लेने, किसानों को खराब फसल का मुआवजा देने सहित विभिन्न मुद्दों पर खुलकर विचार विमर्श हुआ । इसके बाद किसान एक काफिले के साथ उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के आवास को घेरने के लिए निकल पड़े। आज किसानों के आंदोलन के दृष्टिगत उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह के आवास को जाने वाले मार्गों पर विशेष तौर पर बैरिकेड लगाकर अवरुद्ध किया गया था।

इस दौरान उप पुलिस अधीक्षक आर्यन चौधरी के नेतृत्व में सैकड़ों की तादाद में पुलिस बल तैनात किया गया था। बाबा भूमन शाह चौक पर लगाए गए वेरीकटस लांघकर किसान दुष्यंत चौटाला के आवास की ओर बढ़ने लगे लेकिन पुलिस वालों ने उन्हें जबरन रोक लिया।  किसान  वहीं बैठ गए और केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। किसानों ने इस दौरान जिला प्रशासन को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा इस दौरान किसान नेता मनदीप नथवान ने बताया कि आगामी 29 मई को सिरसा के गांव ओढ़ां में प्रस्तावित प्रगति रैली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल को किसानों की ओर से काले झंडे दिखाए जाएंगे।

किसान नेता मंदीप नथवान ने इस दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा की सरकार ने किसानों को विश्वास में लेकर दिल्ली बॉर्डर से धरना उठा दिया,उस दौरान हरियाणा में किसानों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने की बात राज्य सरकार के साथ हुई थी मगर सरकार इसको गंभीरता से नहीं ले रही, जिससे जाहिर होता है कि सरकार की मंशा किसानों के प्रति सही नहीं है ।

उन्होंने कहा कि अगर सरकार का यही रवैया रहा तो एक बार फिर किसान सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने को विवश हो जाएंगे। मनदीप नथवान ने बताया कि प्रदेश में विभिन्न टोल प्लाजा पर किसानों से टोल टैक्स वसूला जाता है जो सरासर गलत है, इस संदर्भ में भी केंद्र व राज्य सरकार से बातचीत की जाएगी।

Donate Now
Back to top button