Breaking Newsबिज़नेसहरियाणा

नदियों में प्रदूषण की जानकारी के लिए जिले की सीमा पर लगेंगे ऑनलाइन वॉटर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता
मुख्यमंत्री ने नदियों में प्रदूषण का पता लगाने हेतु जिला सीमाओं पर ऑनलाइन वॉटर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन लगाने के दिए निर्देश
प्रदूषण को समाप्त करने के लिए जिलावार योजनाएं बनाई जाएं- मनोहर लाल

चंडीगढ़, 31 दिसम्बर- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश में नदियों में प्रदूषण के रियल टाइम डाटा का पता लगाने के उद्देश्य से जिला सीमाओं पर ऑनलाइन वॉटर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन स्थापित करने के निर्देश दिए। साथ ही, वर्ष 2015 से 2021 तक की एक विस्तृत रिपोर्ट बनाने के भी निर्देश दिए, जिससे नदियों में प्रदूषण और उससे निपटने के लिए किये गए उपायों की वास्तविक स्थिति का मूल्यांकन हो सके।

मुख्यमंत्री आज यहाँ राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नदियों में प्रदूषण को समाप्त करने के लिए जिलावार योजनाएं बनाई जाएं और जिन जिलों से यमुना  और घग्गर नदियां गुजरती हैं उन जिलों में प्रवेश व निकासी सीमा पर नदियों के पानी के सैंपल एकत्रित किए जाएं ताकि जिस जिले में नदियों का पानी ज्यादा गंदा है, उसके अनुसार उस विशिष्ट जिले में अलग योजना बनाकर उसका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जा सके।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के लिए राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को संबंधित विभागों के साथ मिलकर योजनाएं बनानी चाहियें।

उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि एनसीआर क्षेत्र और अन्य शहरों में सीएनजी व पीएनजी के कनेक्शन कहां -कहां मिल चुके हैं और आगामी कनेक्शन की प्रक्रिया की समय सीमा क्या है, इस पर भी विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जाए।

यह भी पढ़े   अब अन्य राज्यों में भी मजबूत होगी जेजेपी की छात्र इकाई इनसो

राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव श्री एस. नारायणन ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि बोर्ड द्वारा पानी की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए समय-समय पर नदियों और जल घरों से पानी के सैंपल एकत्रित किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि विभिन्न औद्योगिक प्रतिष्ठानों द्वारा छोड़े जा रहे पानी के लगभग 20000 सैंपल हर साल एकत्रित किए जाते हैं और उन्हें टेस्ट किया जाता है। इसके अलावा, बोर्ड द्वारा वायु गुणवत्ता पर भी निगरानी रखी जाती है और वायु प्रदूषण को कम करने के लिए निरंतर उपाय किए जाते हैं।

उन्होंने बताया कि नदियों के पानी का डाटा एकत्रित करने के उद्देश्य से राज्य में 4 विभिन्न जगहों पर ऑनलाइन वॉटर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं।

बैठक में मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन श्री पी राघवेंद्र राव, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री एस एन रॉय, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव श्री अरुण कुमार गुप्ता, एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक श्री विकास गुप्ता, मुख्यमंत्री की उप प्रधान सचिव श्रीमती आशिमा बराड़ सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Donate Now
Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 39,237,264Deaths: 489,409
Close
Close