Breaking Newsहरियाणा

ऐलनाबाद उपचुनाव- सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग पर संज्ञान ले चुनाव आयोग:अभय चौटाला

राजेन्द्र कुमार
ऐलनाबाद,21अक्तूबर। हरियाणा के सिरसा में ऐलनाबाद सीट पर हो रहे उपचुनाव मैं इंडियन नेशनल लोक दल के प्रत्याशी अभय सिंह चौटाला ने चुनाव के दौरान सत्ताधारी दल द्वारा सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से आग्रह किया है इस पर संज्ञान लिया जाए अभय चौटाला आज ढाणी शेरा में एक पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी को तिलांजलि देने वाले पूर्व मंत्री रामपाल माजरा भी उपस्थित थे ,जिन्होंने किसान आंदोलन के मद्देनजर अभय चौटाला को अपना समर्थन दिया।
      अबे चौटाला ने कहा कि जनसंपर्क अभियान के दौरान लोगों का रीजन समर्थन मिल रहा है उससे साबित होता है कि जनता में सरकार के प्रति बेहद नाराजगी है उन्होंने सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्री बनवारी लाल द्वारा ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के विकास की आवाज न उठने की बात का पलटवार करते हुए कहा कि बनवारी लाल ने मंत्री रहते हुए कभी भी विधानसभा में सही तरीके से सवालों का जवाब तक नहीं दिया । उन्होंने टिकरी बॉर्डर पर हुए हत्याकांड को लेकर भारतीय जनता पार्टी से संबंध के सवाल भी उठाए। इस दौरान बादली के पूर्व विधायक नरेश शर्मा, मोहन लाल झोरड़,राजेंद्र बरासरी भी थे।
     अभय चौटाला ने कहा कि भाजपा बसपा प्रत्याशी उनके समर्थन में विधानसभा क्षेत्र में घूम रहे नेता भारी पुलिस बल लके जाकर दहशत का माहौल पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि है चुनाव पूंजीपति और किसान के बीच है जबकि इस विधानसभा क्षेत्र में 99 फ़ीसदी लोग खेतिहर हैं जबकि एक फीसदी लोग ही पूंजीपति हैं ,तीन कृषि कानून से त्रस्त खेतिहर लोग वोट की चोट करेंगे।
     अभय चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा जिस हिसाब से चुनावी सभाओं में बयान बाजी कर रहे हैं उससे आशंका पैदा होती है कि मतदान के दिन तक कहीं भाजपा और कांग्रेस एकजुट न हो जाएं। अबे चौटाला ने आरोप लगाया कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा जब से विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता बने हैं भारतीय जनता पार्टी का ही सहयोग कर रहे हैं उन्होंने आरोप लगाया कि विमल चंद्रा को राज्यसभा में भेजने के लिए एक सोची समझी साजिश के तहत भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेसियों के वोटों को निरस्त करवाया और फिर उसके बदले अपने बेटे को राज्यसभा में भेजने के लिए भाजपा का सहयोग लिया।
    इस अवसर पर पूर्व मंत्री रामपाल माजरा ने कहा कि उन्होंने किसी कानूनों को मध्य नजर रखते हुए ही भाजपा को छोड़ा था उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार के भावांतर भरपाई योजना के बावजूद किसानों की बाजरा व अन्य खेती में भरपाई नहीं हो पा रही इसे खेती दिन में दिन घाटे का सौदा बनती जा रही है जबकि सरकार किसान की दोगली आमदनी के दावे ठोक रही है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में साफ किया की सोच है देश में अभय चौटाला एकमात्र ऐसे नेता थे जिन्होंने किसानों के हक में अपने विधायक पद ठुकरा दिया और झंडा लेकर किसानों के साथ खड़े हो गए इसलिए आज वह अभय चौटाला के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ दे रहे हैं।
उन्होंने यह भी कहा अभय चौटाला द्वारा आसिफा के समय जब तक किसी कानून वापस नहीं होते विधानसभा में नए जाने की बात का भी झूठा प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने राजीव लोंगोवाल समझते का किस्सा सुनाकर एक उदाहरण भी दिया।

Donate Now
Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 34,633,255Deaths: 473,326
Close
Close