Breaking News

सीपीएम सम्मलेन में सरकार की नीतियों पर जताई नाराजगी, कहा सरकार की नीतियां किसान मजदूर विरोधी

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) भिवानी का 9वां जिला सम्मेलन हुआ सम्पन्न, कामरेड ओमप्रकाश को दोबारा से सचिव चुना गया

भिवानी, 14 सितंबर 2021
भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) जिला भिवानी का सम्मेलन शहीद भगतसिंह स्मारक में शुरू हुआ। सम्मेलन का शुभारम्भ वरिष्ठ नेता मा0 शेरसिंह द्वारा झण्डारोहण से हुआ। पिछले तीन साल में निधन हुए साथियों को पुष्प चढाकर श्रृद्धांजलि अर्पित की गई। सम्मेलन का उद्घाटन पार्टी के पूर्व सचिव का. इन्द्रजीत ने किया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि पार्टी, सरकार द्वारा बढ़ाई जा रही साम्प्रदायिकता व नव उदारवाद की नीतियों के खिलाफ जन आन्दोलन करने के लिए तैयारी कर रही है। उन्होंने कहा कि खेतीबाड़ी को बर्बाद करने के लिए बनाए गए तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संयुक्त मोर्चा (एसकेएम) पिछले 10 महिनों से सफल संघर्ष कर रहा है।

इस संघर्ष ने सरकार के जन विरोधी स्वरूप को लोगों के सामने उजागर कर दिया है। लोग हौंसला करके सरकार की ज्यादतियों के खिलाफ सड़कों पर उतर रहे हैं। देश में बेरोजगारी की बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई है। देश में बेरोजगारी पिछले 50 वर्षों से सबसे ज्यादा (लगभग 22 प्रतिशत) है। हरियाणा बेरोजगारी दर में देश में पहले स्थान पर बना हुआ है। प्रदेश में बेरोजगारी दर 35.7 प्रतिशत बनी हुई है। खट्टर सरकार के सात वर्षों में न के बराबर रोजगार दिए गए हैं। सरकार आने के बाद 28 बार पेपर लीक हुए हैं, अभी तक सरकार कोई पुख्ता प्रबंध नहीं कर पाई है।

उन्होनें कहा कि केन्द्रीय सरकार राष्ट्रीय मुद्रीकरण पाईप लाईन के नाम से लगभग सभी सार्वजनिक उपक्रमों यथा रेल, स्टेशन, रेलमार्ग, सड़कें, परिवहन, हवाई जहाज व हवाई अड्डे, गैस पाईप लाईन, टेलीफोन की फाइबर लाईनें, बी.एस.एन.एल., एम.टी.एन.एल., कोयला खदान, पैट्रोलियम कम्पनियां, बैंक, बीमा, स्टेडियम आदि को प्राईवेट लोगों, कारपोरेट्स को बेच रही है। रक्षा उत्पादन इकाईयों को निजी हाथोें में देकर, देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है।

यह भी पढ़े   दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर सील: वैध पास होल्डर्स को ही अनुमति

 

किसान आंदोलन के समर्थन में प्रस्ताव पारित किया गया। नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत स्कूलों को बंद किया जा रहा है। शिक्षक ट्रेनिंग केन्द्रों को बंद किया जा रहा है। शिक्षकों की भर्तियों पर रोक लगाई जा रही है। फीसें बढ़ाकर शिक्षा को मंहगा किया जा रहा है। आम आदमी का बच्चा शिक्षा से वंचित रह जाएगा व अनपढ़ता बढ़ेगी। डेढ़ सालों के संघर्षों से प्राप्त किए गए श्रम कानूनों को खत्म किया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं का नीजिकरण किया जा रहा है। राशन प्रणाली में सरसों का तेल, दाल, चीनी, नमक बंद करके कारपोरेट घरानों का तेल 200 रू. लीटर खरीदने पर मजबूर किया जा रहा है।

इस सम्मेलन में इन सभी समस्याओं पर चर्चा की गई व भविष्य में सरकार के जन विरोधी कदमों का विरोध करने के लिए अभियान चलाने की योजना को ठोस रूप दिया जाएगा। इस अवसर पर जिला सम्मेलन मंे सर्व सम्मति से 17 सदस्यीय जिला कमेटी का चुनाव किया। जिसमें कामरेड ओमप्रकाश को दोबारा से सचिव चुना गया व मास्टर शेर सिंह, अनिल कुमार, राममेहर ंिसह, विनोद कुमार, सज्जन कुमार सिंगला, रामफल देशवाल को सचिव मण्डल सदस्य चुना गया। अंत में का. इन्द्रजीत ने सम्मेलन का समापन भाषण देते हुए 27 सितम्बर के भारत बंद का समर्थन किया व अध्यक्ष मण्डल की तरफ से जिला सचिव मण्डल सदस्य राममेहर सिंह ने सम्मेलन का समापन किया।

Donate Now
Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 34,108,996Deaths: 452,651
Close
Close