Breaking NewsFarmer Agitationबिज़नेसहरियाणा

बाजरा छोड़ दलहनी व् तिलहनी फसल बोयें, उर्वरा शक्ति बढ़ेगी और आमदनी भी, 4 हज़ार प्रति एकड़ प्रोत्साहन सरकार देगी: जेपी दलाल

Sow pulses and oilseed crops leaving millet, fertility will increase and income will also increase, government will give incentive of 4 thousand per acre: JP Dalal

चंडीगढ़, 23 जून – हरियाणा सरकार खरीफ-2021 के दौरान प्रदेश में दलहनी व तिलहनी फसलों को बढ़ावा दे रही है ताकि किसानों की भूमि की उर्वरा शक्ति बढऩे के साथ-साथ राज्य में खाद्य तेल की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा हरियाणा के सभी (विशेषकर प्रमुख बाजरा उत्पादक) जिलों में दलहनी (मूंग, अरहर) व तिलहनी (अरंड, मूंगफली) की फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। सरकार का लक्ष्य है कि 70 हजार एकड़ क्षेत्र में बाजरा की बजाय दलहनी फसलें तथा 30 हजार एकड़ क्षेत्र में बाजरा की बजाय तिलहनी फसलों की बिजाई की जाए। उन्होंने बताया कि इसके तहत किसानों को 4 हजार रूपए प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता भी दी जाएगी।

प्रवक्ता ने बताया कि दलहनी फसलें लगाने से जहां भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ती है वहीं तिलहनी फसलों को बढ़ावा देने से प्रदेश में खाद्य तेल की उपलब्धता सुनिश्चितता होगी। उन्होंने बताया कि उक्त फसलों के पंजीकरण के लिए ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर 31 जुलाई 2021 तक पंजीकरण करवाया जा सकता है।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 31,411,262Deaths: 420,967
Close
Close