Breaking NewsFarmer Agitation

तनावपूर्ण माहौल में हलोपा की रीना सेठी बनी सिरसा नप चेयरपर्सन

आक्रोशिक किसानों ने गोपाल कांडा व भाजपा के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

राजेंद्र कुमार

सिरसा। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेशों के बाद आखिरकार बुधवार को तनावपूर्ण माहौल में हुए चुनावों में हलोपा समर्थित उम्मीदवार पार्षद रीना सेठी के सिर पर 17-15 के अंतर से चेयरपर्सन का ताज सज गया। हालांकि कुछ दिनों से कय्यास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी समर्थित वार्ड नंबर 5 से पार्षद विधवा सुमन शर्मा को सहानुभूति के लिए चेयरपर्सन की कुर्सी पर बैठाया जा सकता है, लेकिन सिरसा के विधायक गोपाल कांडा ने नाटकीय अंदाज में अपनी ही पार्टी की रीना सेठी को चेयरपर्सन की कुर्सी पर काबिज कर दिया। अचानक हुए इस घटनाक्रम से बीजेपी खेमा हलोपा विधायक गोपाल कांडा से नाराज बताया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर सिरसा के एक पार्षद ने इस चुनाव को कल पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्ययालय में चुौती देनी चाही थी मगर माननीय न्यायालय से उसे ठुकरा दिया।

चुनावी प्रक्रिया में हिस्सा लेने पहुंची सांसद सुनीता दुग्गल व विधायक गोपाल कांडा को किसानों ने काले झंडे दिखाते हुए खूब नारेबाजी की। किसानों को इन दोनों नेताओं के करीब जाने से रोकने के लिए पुलिस प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। चुनाव के दृष्टिगत नगरपरिषद परिसर को पुलिस छावनी के तौर पर तबदिल किया हुआ था। किसानों के गुस्से को देखते हुए सांसद सुनीता दुग्गल व विधायक गोपाल कांडा को जिला प्रशासन ने आदोंलनकारी किसानों को चकमा देते हुए एसडीएम की गाड़ी में बैठाकर नगरपरिषद कार्यालय से बाहर निकाला।

सिरसा नगरपरिषद चैयरपर्सन चुनाव को लेकर सत्तारूढ़ दल भाजपा पिछले कई रोज से जुगत बिठाने में लगी थी। इस पद को भाजपा के खाते में डालने के लिए सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल व एक पूर्व सांसद की पार्टी संगठन की ओर से ड्यूटि निर्धारित की गई थी। बीती रात तक भाजपा अन्य दलों के पार्षदों के साथ उधेड़बुन का खेल खेलती रही मगर आज मतदान के दौरान यकायक हलोपा विधायक गोपाल कांडा ने अपने सभी पूर्व के वायदों व कस्मों को तोड़ते हुए अपनी ही पार्टी की रीना सेठी को उम्मीदवार बना दिया।

रीना सेठी कांग्रेस समर्थित व कुछ आजाद पार्षदों के मत लेने में कामयाब हो गई। रीना सेठी को कुल 31 पार्षदों में से सोलह पार्षदों व एक विधायक गोपाल कांडा का मत मिला वहीं भाजपा समर्थित सुमन बामनियां को 14 मत व एक सांसद सुनीता दुग्गल का मत मिला जिससे दो मत के अंतर से हलोपा की रीना सेठी विजयी घोषित हुई। एक पार्षद ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया।

यह भी पढ़े   25 बच्चों को बोर्ड ने किया फेल, बोर्ड सचिव ने गलती को स्वीकारा- सत्यवान कुंडू

काबिलेजिक्र है कि नगरपरिषद के शुरूआती चुनावों में बीजेपी समर्थित शीला सहगल को चेयरपर्सन चुना गया था, लेकिन इसके बाद अविश्वास प्रस्ताव के चलते उनकी कुर्सी चली गई। इसके बाद उपप्रधान बनाए गए कांग्रेस समर्थित रणधीर सिंह को कार्यकारी चेयरपर्सन बनाया गया। इसके बाद कई दफा चुनाव की तारीख तय हुई, लेकिन किसी न किसी कारण चुनाव संपन्न नहीं हो पाए।

मतदान के दृष्टिगत नगर परिषद कार्यालय के बाहर स्थिति बेहद तनावपूर्ण रही। एक ओर जहां नप चेयरपर्सन को लेकर राजनीतिक दलों के लोग जुगाड़ बिठाने में जुटे थे तो वहीं दूसरी ओर तीन कृषि कानूनों को लेकरआंदोलनरत किसानों ने मौके पर आकर माहौल को और गरमा दिया। किसानों ने नगर परिषद कार्यालय में पहुंचे विधायक गोपाल कांडा और भारतीय जनता पार्टी के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

विधायक व बीजेपी के नेताओं के नगर परिषद कार्यालय में पहुंचने पर एकबारगी तो स्थिति अनियंत्रित हो गई थी लेकिन पुलिस ने हल्का बल प्रयोग व वाटर कैनन की बौछारें फेंक कर जैसे-तैसे स्थिति को संभाल लिया। चुनाव के लिए नोडल अधिकारी बनाए गए एसडीएम जयवीर यादव को मोर्चा संभालने में पसीने छूट गए। उपायुक्त प्रदीप कुमार व पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह मतदान प्रक्रिया के दौरान नगरपरिषद परिसर में ही डटे रहे।

हलोपा पार्षद रीना सेठी के नगरपरिषद सिरसा की चेयरपर्सन बनने के बाद कांडा समर्थक पार्षदों व अन्य समर्थकों ने जीत का खूब जश्र मनाया। जीत के बाद चैयरपर्सन रीना सेठी बाबा तारा कुटिया पहुंची ओर मात्था टेका। समर्थकों ने बाजारों में खूब आतिशबाजी कर अपनी प्रसन्नता जाहिर की और एक दूसरे को गले मिलकर व मिष्ठान बांटकर बधाई दी। शहर के अनेक लोगों ने भी जहां रीना सेठी के नगरपरिषद की चेयरपर्सन चुनने पर बधाई दी वहीं विधायक गोपाल कांडा व उनके छोटे भाई गोविंद कांडा को भी इस जीत की बधाई दी।

यह भी पढ़े   करेला और नीम चढ़ा ! डोनाल्ड ट्रम्प चुनाव क्या हारे पत्नी मेलेनिया भी तलाक देने की तयारी में

सत्तारूढ़ दल भाजपा की हार पर जब जिलध्यक्ष आदित्य चौटाला से पूछा गया तो बताया कि भाजपा के पास अपने कु ल 9 ही पार्षद थे जबकि उम्मीदवार सुमन बामनियंा को 15 मत मिले यह हमारी कामयाबी है वहीं दूसरी ओर सिरसा के विधायक गोपाल कांडा बारम्बार भाजपा हाईकमान को समर्थन का भरोसा देते रहे मगर आज ऐन मौके पर बदल गए जिससे भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। आदित्य चौटाला ने कांग्रेस समर्थित पार्षदों के हलोपा उम्मीदवार को समर्थन देने पर चुटकी लेते हुए कहा कि इस छोटे से चुनाव में कांग्रेस  कहीं नहीं ठहर पार्ई तो ऐलनाबाद चुनाव में कांग्रेस का क्या हश्र होगा।
फोटो विवरण:07एस.आर.एस.01:-सिरसा नप चैयरपर्सन चुने जाने के बाद रीना सेठी विधायक गोपाल कांडा व समर्थकों के साथ विजय चिन्ह दिखाते हुए।
——————-02,03:-सिरसा नप चैयरपर्सन चुनाव के दौरान भाजपा व गोपाल कांडा का विरोध करने आए किसान पुलिस से उलझते हुए।
——————-:-रीना सेठी,चैयरपर्सन,नगरपरिषद सिरसा।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 14,291,917Deaths: 174,308
Close
Close