Breaking Newsक्राइमबिज़नेस

फ्यूचर रिटेल और रिलायंस के 24,713 करोड़ रुपये के सौदे पर दिल्ली हाई कोर्ट ने लगाई रोक

Delhi High Court bans Future Retail and Reliance deal worth Rs 24,713 crore

दिल्ली हाईकोर्ट ने ई-कॉमर्स दिग्गज  कंपनी अमेजन की याचिका पर फ्यूचर रिटेल को रिलायंस के साथ 24,713 करोड़ रुपये के सौदे पर आगे बढ़ने से रोक लगा दी। गुरुवार को अदालत ने मामले में सिंगापुर के मध्यस्थ का आदेश बरकरार रखा। न्यायलय ने कहा कि फ्यूचर ग्रुप ने जानबूझकर मध्यस्थ के आदेश का उल्लंघन किया है।

मुख्य न्यायाधीश डी. एन. पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की खंडपीठ ने उल्लेख किया कि वैधानिक निकायों को सौदे के संबंध में कानून के अनुसार आगे बढ़ने से रोका नहीं जा सकता है. पीठ ने यह भी कहा कि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड आर्ब्रिटेशन (मध्यस्थता) समझौते को लेकर पार्टी नहीं है.

कोर्ट ने किशोर बियानी और फ्यूचर ग्रुप से संबंधित अन्य की संपत्तियां कुर्क करने का आदेश दिया। इसके साथ ही अदालत ने फ्यूचर ग्रुप के निदेशकों को आदेश दिया है कि वह पीएम रिलीफ फंड में 20 लाख रुपये जमा करें। इस राशि से बीपीएल श्रेणी के वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना वायरस वैक्सीन उपलब्ध कराई जाएगी।

बता दें अगस्त 20019 में अमेजन फ्यूचर समूह की गैर सूचीबद्ध कंपनी फ्यूचर कूपंस लिमिटेड की 49% हिस्सेदारी खरीदने का एक करार किया था। फ्यूचर कूपंस के पास फ्यूचर समूह की बीएसई में सूचीबद्ध कंपनी फ्यूचर रिटेल की 7.3% हिस्सेदारी है। अमेजन ने फ्यूचर के साथ यह भी करार किया था कि वह 3 से लेकर 10 साल के बीच सूचना डिटेल्स को भी खरीद सकती है। 29 अगस्त 2020 को फ्यूचर समूह ने रिलायंस के साथ अपने करार घोषणा जिसमें उसने अपने खुदरा और थोक व्यवसाय को रिलायंस रिटेल को बेचने का करार कर लिया था, में कहा था कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ उसका यह करार 24713 करोड़ रुपए का है। अमेजन ने इसके खिलाफ अक्टूबर 2020 में सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय पंचाट केंद्र में एक सदस्यीय आपातकालीन पीठ के समक्ष चुनौती दी। अमेजन ने आरोप लगाया कि रिलायंस के साथ कारोबार बेचने का करार कर फ्यूचर में उसके साथ अनुबंध की अवहेलना की है।

यह भी पढ़े   43 सौ करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग घोटाले के आरोपियों की मदद कर सुर्खियों में आये अमिताभ गुप्ता बने पुणे के नए पुलिस आयुक्त

24,713 करोड़ रुपये के सौदे में मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस को अपनी खुदरा, थोक, रसद और वेयरहाउसिंग इकाइयों को बेचने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप को सिंगापुर इंटरनेशनल आर्ब्रिटेशन सेंटर में मध्यस्थता के लिए बुलाया.

अमेजन के अनुसार, फ्यूचर रिटेल लिमिटेड ने रिलायंस के साथ करार करके अनुबंध का उल्लंघन किया है. अमेजन को राहत देते हुए, न्यायाधीश मिड्ढा ने दो फरवरी को फ्यूचर रिटेल को रिलायंस के साथ अपने सौदे के संबंध में यथास्थिति बनाए रखने का निर्देश दिया था.

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 14,291,917Deaths: 174,308
Close
Close