Breaking Newsउत्तर प्रदेशक्राइम

रेप के झूठे मुकदमें में 20 साल जेल में रहा विष्णु, कोर्ट ने किया निर्दोष घोषित

Vishnu jailed for 20 years in false rape case, court declared innocent

उत्तर प्रदेश: आगरा में बलात्कार के झूठे मामले में जेल भेज दिए गए विष्णु नामक व्यक्ति 20 बर्ष बाद जेल से निर्दोष निकले हैं। उन्होंने बताया, “मुझे दुनिया बदली-बदली सी लग रही है, हमारा सरकार से एक ही अनुरोध है कि हमारे लिए कुछ किया जाए। हमारी ज़मीन भी इस केस में बिक गई।”

बताया कि विष्णु तिवारी नाम के 43 साल के इस व्यक्ति को 19 साल से ज्यादा समय जेल में हो गया, इनकी अपील उच्च न्यायालय इलाहाबाद में लंबित थी। न्यायालय ने इन्हें निर्दोष घोषित किया। जिसके बाद हमें आदेश प्राप्त हुआ:  केंद्रीय कारागार आगरा के वरिष्ठ जेल अधीक्षक वी.के. सिंह

इस साल जनवरी में इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा निर्दोष करार दिया गया एक व्यक्ति बलात्कार (Rape) के मामले में 20 साल जेल में बिताकर बाहर आया. उत्तर प्रदेश (UP) में मध्यप्रदेश की सीमा से सटे ललितपुर (Lalitpur) जिले का यह व्यक्ति आज शाम को आगरा सेंट्रल जेल से निकलकर अपने गांव गया. विष्णु तिवारी नाम के 43 साल के इस व्यक्ति को 16 सितंबर सन 2000 में गिरफ्तार किया गया था. उस पर रेप और एट्रोसिटीज के तहत एससी/एसटी एक्ट में केस दर्ज किया गया था. साल 2003 में उसे ललितपुर की अदालत ने रेप के मामले में 10 साल और एससी/एसटी एक्ट में आजीवन कारावास की सजा दी. कोर्ट के आदेश के मुताबिक दोनों सजाएं साथ-साथ चलनी थीं. तिवारी पर आरोप था कि उसने गांव की एक महिला का उस समय बलात्कार किया जब वह घर से खेत में काम करने के लिए जा रही थी. 

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 14,291,917Deaths: 174,308
Close
Close