हरियाणा

फर्जी वसीयत से मंदिर को व्यक्तिगत नाम पर चढ़वाने के मामले की पुुुलिस करेगी जांच

राजेन्द्र कुमार
सिरसा, 27 फरवरी। सिरसा के सुरतगढिया बाजार की गली अरोड़ा सुनार वाली में स्थित श्री गीता देवी मंदिर को धोखाधड़ी से व्यक्तिगत नाम पर चढ़वाने के मामले में पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने सख्त रुख दिखाया है। इस सिलसिले में मंदिर के श्रद्धालुओं की शिकायत पर डीजीपी मनोज यादव ने डीएसपी मुख्यालय आर्यन चौधरी को जांच सौंपी है। इस फर्ज़ीवाडे की जांच करने के बाद डीएसपी पूरी रिपोर्ट डीजीपी को सौंपेंगे। आगामी तीन मार्च को डीएसपी मुख्यालय के कार्यालय में आरोपी सुभाष चंद्र गोयल को पेश होने के आदेश दिए गए हैं। साथ ही मंदिर के श्रद्धालुओं को भी तमाम दस्तावेजों के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं।
मालूम हो कि गली अरोड़ा सुनार वाली में स्थित श्री गीता देवी मंदिर को हनुमानगढ़ निवासी सुभाष चंद्र गोयल ने फर्जी वसीयत से नगर परिषद रिकॉर्ड में अपने व्यक्तिगत नाम पर चढ़वा लिया। साथ ही आरोपी ने 60 सालों से मंदिर से जुड़े श्रद्धालुओं के मंदिर में आने पर रोक लगा दी। जिसके बाद इस मामले में पीड़ित श्रद्धालुओं ने न्यायपालिका और पुलिस प्रशासन से गुहार लगाई। आरोपी सुभाष चंद्र गोयल व नगर परिषद रिकॉर्ड में मंदिर को निजी नाम पर बदलवाने वाले कर्मियों के खिलाफ शिकायत दी गयी। शिकायतकर्ता हरीश साहुवाला व अंजनी गोयल सतनालीवाला ने पुलिस महानिदेशक मनोज यादव से भी पूरे फर्ज़ीवाडे की विस्तृत जांच करवाने और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।
अब पुलिस महानिदेशक ने शिकायत पर सख्त रुख दिखाते हुए डीएसपी मुख्यालय को जांच करने के आदेश दिए हैं।
डीजीपी के आदेश के बाद डीएसपी मुख्यालय ने आरोपी सुभाष चंद्र गोयल व पीड़ित पक्ष को तलब किया है।
गौरतलब है विगत एक फरवरी को ही सिरसा के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी अभिषेक चौधरी की अदालत ने भी फर्जी वसीयत से धोखाधड़ी करने के आरोपी सुभाष चंद्र गोयल व फर्जी वसीयत पर गवाह बलजिंद्र कुमार नरूला व हनुमानगढ़ निवासी उमेश कुमार को 24 मई के लिए विभिन्न संगीन आपराधिक धाराओं के तहत समन जारी किया है।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 14,291,917Deaths: 174,308
Close
Close