हरियाणा

कर्मचारियों के भविष्य को चौपट कर रहा है एनपीएस : शास्त्री

एनपीएस की मार से भारी सदमे में हैं देश भर के कर्मचारी

भिवानी 27 फरवरी
पेंशन बहाली संघर्ष समिति हरियाणा के प्रदेश मिडिया प्रभारी शिवकुमार शास्त्री ने बताया कि एनपीएस यानी नयी पेंशन व्यवस्था कर्मचारियों के भविष्य को चौपट कर रही है जिससे समूचे देश के कर्मचारी सदमे में हैं और समझ नहीं पा रहे इस महामारी से कैसे पिंड छुड़वाएं । ये स्कीम शेयर बाजार पर आधारित होने के चलते महीने में तीन चार बार बाजार का गोता लगाना स्वभाविक है जब बाजार गिरता है और एनपीएस का पैसा जिस अनुपात में घटता है बाजार वापस वहीं आने पर तीसरे हिस्से का भी नहीं बढता । उन्होंने बताया जब सूचकांक 49000 था तो जो पैसा उनके एनपीएस खाते में था बाजार के तीन चार बार ऊपर नीचे जाने के बाद आज फिर से सूचकांक 49000 है इस दौरान मेरे खाते से लगभग 50,000 रुपये चंपत हो गए जबकि बाजार वहीं है और ये कहानी हर माह दोहराई जाती है। सरकार कर्मचारियों की सुनती ही नहीं है क्योंकि उसको नेताओं को पुरानी पेंशन देनी है वह भी चुनाव जीतने के बाद हर पद के लिए अलग से दी जाती है दूसरा पूंजीपतियों को लाभ भी पहुंचाना है जिसके चलते ये एनपीएस जबरन थोपी गयी थी । हम सरकार से मांग करते हैं जब पंचायत से लेकर संसद तक पुरानी पेंशन का जायजा मुद्दा ज्वलंत है तो राजहठ को छोड़ देशहित में कर्मचारियों की पेंशन बहाल करे जो उसका संवैधानिक हक है या फिर नेताओं की भी बंद की जाए ।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 14,291,917Deaths: 174,308
Close
Close