हरियाणा

कवियों ने कविताओं से भारत की आजादी और महानता का किया यशोगान

चंडीगढ़ (मनोज शर्मा) कवियों ने कविता, गीत, गजल के माध्यम से भारत की आजादी,महानता और सम्पन्नता का किया गुणगान। गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में साहित्य व कला परिषद ने “हमारा प्यारा भारत” विषय को लेकर विशेष काव्य गोष्ठी का ऑनलाइन आयोजन किया। मुख्य अतिथि प्रसिद्ध शिक्षाविद रविंद्र तलवार थे जबकि अध्यक्षता वरिष्ठ कवि प्रो. मोहन सपरा ने की। कार्यक्रम के आरंभ में अध्यक्ष प्रेम विज और महासचिव विनोद शर्मा ने अतिथियों का स्वागत और परिचय दिया। कार्यक्रम की सूत्रधार उपाध्यक्षा व कवियत्री नीरू मित्तल ‘नीर’ थीं।

प्रसिद्ध कविवर प्रेम विज ने अपनी कविता में कहा “आओ साथियों मिलकर हम काम करें और भारत का नवनिर्माण करें”। सरिता मेहता ने कविता “मेरा भारत मेरा प्यारा वतन” के माध्यम से देश की संपन्नता का बखान किया। डॉ विनोद शर्मा ने “ऋषि मुनियों की है तपोभूमि भारत” सुनाई। नीरू मित्तल नीर ने कविता “पवित्र पावन भारत की धरा का अभिनंदन है” सुना के माहौल देशभक्ति से सरोबार कर दिया।

इनके अलावा राशि श्रीवास्तव, बालकृष्ण गुप्ता, डेजी बेदी जुनेजा, अलका कांसरा, सुदेश मोदगिल नूर, विजय कपूर, अशोक भंडारी नादिर, देवराज त्यागी और डॉक्टर अनीश गर्ग ने देशभक्ति की कविताएं पढ़कर माहौल देश भक्ति से ओतप्रोत कर दिया।कार्यक्रम में लगभग पंद्रह कवियों ने भाग लिया।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 11,173,761Deaths: 157,548
Close
Close