Breaking Newsराजनीतीहरियाणा

कुछ विदेशी ताक़तों को मोदी का चेहरा पशंद नहीं- जे पी दलाल

Bhiwani जेपी दलाल का बड़ा बयान
हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल का बडा बयान
कुछ विदेशी ताक़तों को मोदी का चेहरा पशंद नहीं- दला
ये विदेशी ताक़त किसानों को आगे कर बाधा डाल रही हैं- दलाल
पीएम मोदी ने 6 साल में किसानों का बहुत भला किया-दलाल
कुछ ग़लत होगा तो हम ठिक करने को तैयार- दलाल
किसानों ने देश के खाद्यान्न भंडारण भरे, पर किसान की हालत नहीं सुधरी- दलाल
किसानों की हालत सुधारने के लिए पूराने सिस्टम को बदल रहे मोदी- दलाल
नीति निर्धारण सडक पर नहीं, संसद में जनप्रतिनिधि करते हैं- दलाल
संसद में सही नहीं होगा तो जनता प्रतिनिधियों को बदल देगी- दलाल
विरोध की बजाय कृषि क़ानूनों के परिणाम के लिए 2-3 इंतज़ार करें किसान- दलाल
बिना परिणाम के विरोध करना जायज नहीं- दलाल
हरियाणा के गृह मंत्री के विरोध पर बोले कृषि मंत्री जेपी दलाल
कुछ लोग मीडिया में बने रहने के लिए करते हैं ऐसे विरोध-दलाल
लोकतंत्र में लठ से बात मनवाना सही नहीं- दलाल
दादरी विधायक के चेयरमैन पद से इस्तीफ़े पर भी बोले दलाल
राजनितीक लाभ लेने के लिए आंदोलन में हिस्सा ना ले कोई- दलाल
दिल्ली का अन्न पानी बंद करना ग़लत, दिल्ली हमारी राजधानी है, लाहौर या कराची नहीं- दलाल
आज केंद्रित मंत्री किसानों से बात कर निकालेंगे समाधान- दलाल

हरियाणा के कृषि मंत्री JP दलाल ने आज किसान आंदोलन के समाधान की उम्मीद जताते हुए बड़ा बयान दिया है। जेपी दलाल ने कहा कि किसान आंदोलन के पीछे विदेशी ताक़तों का हाथ है। उन्होंने कहा कि PM नरेंद्र मोदी ने किसानों के हक़ में सबसे ज़्यादा फ़ैसले लिए। इसलिए देश विरोधी कुछ ताक़तों को मोदी का चेहरा पसंद नहीं है जो किसानों को आगे कर रही हैं। उनहोने कहा कि नीतियाँ सड़क पर नहीं संसद में बनती है और कुछ ग़लत होगा को जनता बदलाव करेगी।

यह भी पढ़े   पेट्रोलिंग प्वाइंट 14, 15 और 17 से चीनी सेना ने अपने कदम पीछे खीचें

बता दें कि हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल मंगलवार को अपने भिवानी निवास पर जनता दरबार लगाकर लोगों की समस्याएं सुन रहे थे। इस दौरान उन्होंने कृषि क़ानूनों के विरोध में हो रहे किसानों के आंदोलन को लेकर अपनी राय रखी और इसके पीछे विदेशी ताक़तों का हाथ होने का अंदेशा जताया।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते छह साल में किसानों के लिए अनेक हितकारी काम किए हैं। जिसके चलते देश विरोधी कुछ ताक़तों को नरेंद्र मोदी का चेहरा पसंद नहीं है। इसलिए ऐसी विदेशी ताकतें किसानों को आगे कर रही हैं। उन्होंने कहा किसानों ने देश के खाद्यान्न भंडार भरे हैं, लेकिन फिर भी किसान की हालत नहीं सुधरी। इसलिए पीएम मोदी पुराने सिस्टम को बदल कर नए क़ानून लाए हैं। उन्होंने कहा कि नए कानूनों के परिणाम के लिए किसानों को दो तीन साल इंतज़ार करना चाहिए था। बिना परिणाम के किसी चीज़ का विरोध ठीक नहीं। जेपी दलाल ने कहा कि दो तीन साल के बाद क़ानूनों का विपरीत असर पड़ता है तो फिर किसान आंदोलन करें या बदलाव की माँग, उसना सभी समर्थन करेंगे।

हरियाणा के कृषि मंत्री ने कहा कि देश के नीति निर्धारण के फ़ैसले को सड़क की बजाय संसद में होते हैं और संसद में ये फ़ैसले जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि करते हैं उन्होंने कहा कि संसद में कोई भी ग़लत फ़ैसला होगा तो जनता को अपने तन प्रतिनिधि बदलने का पूरा अधिकार होता है है। इसके साथ ही जेपी दलाल ने उम्मीद जताई की आज केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक में किसानों की समस्याओं का समाधान हो जाएगा।

किसान संगठनों द्वारा अपनी माँग मनवाने के लिए दिल्ली का अन पानी बंद करने पर JP दलाल ने कहा कि दिल्ली हमारी राजधानी है, कोई लाहौर या कराची नहीं। ऐसे में दिल्ली का अन पानी बंद करना ठीक नहीं है। कल हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के विरोध पर बोलते हुए JP दलाल ने कहा कि कुछ लोग मीडिया में बने रहने के लिए ऐसे विरोध करते हैं, लेकिन लोकतंत्र में लठ के बल पर अपनी बात मनवाना ठीक नहीं। इसके साथ ही उन्होंने चरखी दादरी से विधायक सोमवीर सांगवान द्वारा चेयरमैन पद से इस्तीफ़ा देने पर कहा कि कोई भी राजनीतिक लाभ लेने के लिए आंदोलन में हिस्सा न लें। क्योंकि ये आंदोलन कुछ दिनों के होते हैं।

यह भी पढ़े   विश्व पर्यावरण दिवस पर एक विचार-एक सोच मंच ने बांटे 40 औषधिय पौधे

कृषि कानूनों को लेकर एक तरफ़ किसान देश की राजधानी के चारों तरफ़ सड़कों पर डटे हुए हैं, वहीं सरकार व सरकार के प्रतिनिधि इन कानूनों को किसानों के हित में बताने में जूटे हुये हैं। ऐसे में अब देखना होगा कि आने वाले समय में क्या सरकार कोई बीच का रास्ता निकाल पाती है, जिससे किसान भी ख़ुश हों और आमजन भी परेशान न हो।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 10,639,684Deaths: 153,184
Close
Close