Breaking Newsराजनीतीहरियाणा

फेर की फेर बात,इस बार भाजपा के साथ: बरोदा के लिए यह चुनाव बहुत महत्वपूर्ण : रमेश कौशिक

पहला नेशनल ग्रीन हाईवे बरोदा हलके के बीचो-बीच से
भाई-भतीजावाद की राजनीति से विकास संभव नहीं

गोहाना। गोहाना के भाजपा कार्यालय राजघराना में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि यह उपचुनाव बरोदा हलके के लिए बहुत महत्वपूर्ण चुनाव है। कांग्रेस की सरकार ने पिछले 10 सालों में बरोदा को इतना पिछड़ा बना दिया है,यहां के लोगों को पीने का पानी तक नसीब नहीं हो रहा है,हमारी सरकार ने इस इलाके में विधायक के ना होते हुए भी विकास कार्यों की झड़ी लगा दी। जनता कॉलेज बुटाना को यूनिवर्सिटी का दर्जा देने की घोषणा हो,आईएमटी स्थापना का कार्य हो,दो महिला कालेजों को मंजूरी देना हो,राइस मिल की स्थापना करवाने का कार्य किया हो या फिर सड़कों को पक्का करना और घर-घर पानी पहुंचाना हो ये सभी प्रकार की मूलभूत सुविधाएं हमने पिछले कुछ समय में हल्का वासियों को मुहैया करवाई। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि पिछले 6 साल में प्रदेश में बिना घोटालों के योग्य युवाओं को नौकरी देना सरकार की बड़ी उपलब्धि है,पहले की सरकारें युवाओं को नौकरी देने में या फिर कर्मचारियों के ट्रांसफर में घोटाले करती थी और यही उनका सबसे बड़ा बिजनेस होता था। परंतु आज ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी के तहत बिना किसी धांधली के कर्मचारियों का ट्रांसफर हो रहा है। आज के दिन केवल बरोदा के 750 से अधिक योग्य और मेहनती युवाओं ने नौकरियां पाई है। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि इस हल्के में हमने पिछले कुछ महीनों में 70 से 80 प्रतिशत सड़कों की मरम्मत व पीने के पानी की समस्या को दूर किया और अगले 6 महीने के अंदर-अंदर बरोदा हलके में पीने के पानी की समस्या को खत्म कर दिया जाएगा। इस हल्के के पिछड़ेपन का मुख्य कारण यहां पर रही पीछे की सरकारें थी, जो इसको अपना इलाका बताती थी,परंतु विकास के नाम पर सिर्फ बरोदा हलके वालों को ठेंगा दिखाया गया। सांसद रमेश कौशिक ने कहा कि यह उपचुनाव ना तो किसी पार्टी पर कोई असर करेगा और ना ही सरकार गिरेगी या बनेगी। इस उपचुनाव का मुख्य मकसद है केवल और केवल बरोदा का विकास और यह बात अब हलके वाले भी समझने लग गए हैं कि अगर इस उपचुनाव को विपक्षी पार्टियों की झोली में डाल दिया तो हमारा बरोदा फिर से पिछड़ जाएगा और विकास की रफ्तार नहीं पकड़ेगा। उन्होंने कहा कि ओलंपिक पदक जीतकर देश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ी,युवा और ईमानदार योगेश्वर दत्त को बरोदा की जनता ने जाती-पाती के भेद से ऊपर उठकर अपना लिया है। पहलवान की अपनी कोई जाति नहीं होती,36 बिरादरी का घी पी पीकर,योगेश्वर पहलवान बने है। मैं बरोदा की जनता से आह्वान करूंगा कि वह कमल के निशान वाला बटन दबाकर पहलवान योगेश्वर दत्त को विजयी बनाएं।
उन्होंने कहा कि अगर किसी भी हल्के का विकास होता है तो उसके लिए सबसे मुख्य चीज होती है नेशनल हाईवे,जिस भी हल्के से नेशनल हाईवे गुजरता है, आज आप उस हलके की तस्वीर देख लीजिए वहां पर विकास के साधन नौकरियों का पिटारा बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां लग गई है और वह हल्का विकास की राह पर चल दिया है। बरोदा हलके की बात करें तो यहां भी 2 नेशनल हाईवे आ रहे हैं,जिससे बरोदा हलके की विकास की गति और तेज होगी और बरोदा हल्का विकास के लिए नये आयाम छुएगा। प्रदेश का पहला नेशनल ग्रीन हाईवे बरोदा हलके के बीचो-बीच से बन रहा है। हमने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विकास का नया रास्ता अपनाया है और आज हमने जींद को भी सात नेशनल हाईवे से जोड़ा है। बरोदा हलके में आईएमटी की घोषणा यह अपने आप में विकास की रफ्तार के लिए बहुत महत्वपूर्ण कदम है। जनता कॉलेज को विश्वविद्यालय बनाने से यहां के शिक्षा सत्र में काफी सुधार होगा और इस क्षेत्र में जो भी विकास कार्य हमारी सरकार ने करवाए हैं वह बिना भाई-भतीजावाद के निस्वार्थ करवाए हैं। अब बरोदा की जनता को भी समझ में आने लग गया है कि भाई-भतीजावाद की राजनीति से विकास संभव नहीं है और अब बरोदा हलके वाले भी इस उपचुनाव में भाजपा के उम्मीदवार को भारी मतों से जीताएंगे। मंच पर सांसद रमेश कौशिक के साथ पूर्व मंत्री कृष्ण लाल पवार,इंद्रजीत विरमानी व ललित बत्रा मौजूद रहे।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 7,814,682Deaths: 117,956
Close
Close