हरियाणा

पंजाब से 31 जत्थेबंदियों ने दिया पक्का मोर्चा के धरने को समर्थन

हरियाणा व पंजाब मिलकर लड़ेंगे किसानों के हक की लड़ाई: कुलवंत संधु

राजेंद्र कुमार
सिरसा,18 अक्टूबर। हरियाणा में सिरसा शहर के शहीद भगत सिंह स्टेडियम में किसानों द्वारा चलाया जा रहा पक्का मोर्चा धरना 13वें दिन में प्रवेश कर गया है। किसानों की मांग है कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह तुरंत प्रभाव से किसानों का समर्थन करते हुए अपने पदों से इस्तीफा दें। आज मोर्चे की अध्यक्षता ओमप्रकाश हंसगा व गुरदीप बाबा ने संयुक्त रुप से की।
रविवार को पक्का मोर्चा में पंजाब संगठनों के सांझे मोर्चा व किसान संघर्ष समिति हरियाणा के केन्द्रीय नेता कुलवंत सिह संधू ने कहा कि किसानों के हकों की लड़ाई पंजाब-हरियाणा मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने बताया कि 26 व 27 नवंबर को दिल्ली में लाखों लोग शामिल होंगे और सरकार को किसान विरोधी तीनों काले कानून वापस लेने के लिए मजबूर करेंगे। संधू ने कहा कि किसान, मजदूर व छोटा व्यपारियों की एकता पहली बार देश में हुई है। पंजाब में सभी टोल प्लाजा बंद कर दिए गए हैं। दो लाख लोग पंजाब के हर रोज आंदोलन मे भाग ले रहे हैं। हरियाणा ने भी अच्छी शुरुआत की है। आपका आंदोलन सरकार के कफन में आखिरी कील ठोकने काम करेगा। उन्होंने कहा कि जब आदमी का जमीर मर जाए, उस वक्त आदमी की मौत हो जाती है।
इस मौके पर किसान संघर्ष समिति हरियाणा के राज्य कन्वीनर मनदीप नथवान ने कहा कि हमारा आंदोलन लगातार आगे बढ़ रहा है। हजारों लोग पक्का मोर्चा से जुड़ रहे हैं। लोग अपने आप आंदोलन में शामिल हो रहे हैं। यह किसान आंदोलन के लिए अच्छा संकेत है। 19 अक्तूबर से जो अभियान इस पक्का मोर्चा से चलेगा वो 24 अकतूबर को उचाना में प्रवेश करेगा, जिसमें हजारों लोग शामिल होंगे। नथवान ने कहा कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व बिजली मंत्री रणजीत सिंह का जमीर मर चुका है। इन दोनों नेताओं को अब किसानों से नहीं, बल्कि कुर्सी से अधिक प्या है। उन्होंने कहा कि जनता जनार्दन है और फर्श से अर्श पर आते देर नहीं लगती। दुष्यंत चौटाला की दुकान हरियाणा में बंद होने जा रही है। इस मौके पर हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा सहित भारी संख्या में किसान मौजूद थे।

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 7,814,682Deaths: 117,956
Close
Close