Breaking NewsCorona Virusशिक्षासभी खबरेंहरियाणा

कोरोना महामारी में शिक्षा बोर्ड का कोरोना को निमंत्रण पत्र-लाखों छात्रों की सेहत लगी दाव पर

Education Board order - Tribulation in Corona! The pockets will be loose only due to the corona sound guardian in tension

कोरोना के इस दौर में जहाँ रोजगार धंधे खत्म प्राय: हो चुके हैं, खेती बाड़ी चौपट हो, मजदूरी मिल नहीं रही हो प्रदेश का ही नहीं देश का तमाम कारोबार डूबने के कगार पे हो, ऐसे में 10 से 12 लाख छात्रों के अभिभावकों की जेब पर अनायास ही एक गैर जरूरी मद पर 8 -10 करोड़ का करोड़ रूपये बोझ किसी आफत से कम नहीं !

शिक्षा बोर्ड का आदेश-अभिभावकों को धीरे से लगेगा जोर का झटका ! जेब तो ढीली होगी ही कोरोना की आहट से टेंशन में अभिभावक

कोरोना की इस महामारी के दौर में स्कूल कॉलेज तक बंद हैं, शिक्षण संस्थानों को खोलने को लेकर हरियाणा सरकार असमंजस में है l इन हालात में हरियाणा शिक्षा बोर्ड के एक फैसले से प्रदेश के 10 लाख से अधिक विद्यार्थियों, उनके अभिभावकों, शिक्षकों, नीजि स्कूल संचालकों, यहाँ तक कि प्रदेश के तमाम बैंकों में अफरा तफरी का माहौल बन सकता है l सरकार जहाँ प्रयास में है कि कोरोना की महामारी के चलते लोग कम से कम अपने घरों से निकलें, शिक्षा बोर्ड का यह फैसला 20 लाख छात्रों और उनके अभिभावकों को आधार कार्ड में फोटो अपडेट के लिए बैंकों इ-दिशा केंद्रों पर लाईन में खड़ा करने को मजबूर कर देगा l जहाँ सोशल डिस्टेंस के बारे में सोचना भी उचित नहीं होगा l जो हरियाणा के लिए कोरोना बम साबित हो सकता है l इसके साथ ही यह भी कि कोरोना के इस दौर में जहाँ रोजगार धंधे खत्म प्राय: हो चुके हैं, खेती बाड़ी चौपट हो, मजदूरी मिल नहीं रही हो प्रदेश का ही नहीं देश का तमाम कारोबार डूबने के कगार पे हो, ऐसे में 10 से 12 लाख छात्रों के अभिभावकों की जेब पर अनायास ही एक गैर जरूरी मद पर 8 -10 करोड़ का करोड़ रूपये बोझ किसी आफत से कम नहीं !

यह भी पढ़े   सैकेण्डरी/ सीनियर सैकेण्डरी वार्षिक परीक्षा के विद्यालयी परीक्षार्थियों की चैक लिस्ट शुद्धि के लिए 02 दिसम्बर से लाईव: डॉ० जगबीर सिंह

आपको बतादें कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड (शिक्षा बोर्ड) ने गत्त दिनों एक आदेश जारी कर बोर्ड की परीक्षाओं के लिए आवेदन करने वाले तमाम छात्रों के लिए उनके आधार कार्ड में उनकी ताज़ा फोटो अपडेट करना जरूरी कर दिया l इस से प्रदेश के 10 वीं कक्षा के 3.5 लाख, लगभग इतने ही छात्र 12 वीं के और 8 वीं कक्षा के 5 लाख से अधिक छात्र प्रभावित हो रहे हैं

आपको यह भी बतादें कि आधार धारक का फोटो चेंज करने के लिए. UIDAI ने शुरू से हीं ऑफलाइन मेथड को अपनाया है, ऑफलाइन तरीका एकमात्र तरीका है जिसके द्वारा आप अपना फोटो आधार कार्ड में चढ़वा सकते है lआधार कार्ड में कीसी भी तरह के अपडेट के लिए ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित अटल सेवा केंद्रों को कोई अधिकार अब नहीं है इसके लिए आवेदक को जिला मुख्यालय पर स्थित इ-दिशा केंद्र पर जाना होगा l जहाँ पर पहले ही इतने लोगों की भीड़ होती है कि कोरोना के नियमों को फॉलो करवाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है l फिर फोटो अपडेट के लिए लाखों की संख्या में अगर छात्रों की भीड़ इन इ-दिशा केंद्रों पर आई तो हालात क्या रुख करेंगे इसका अंदाज़ा लगाना कठिन है l

प्रदेश के शिक्षा मंत्री कंवरपाल सिंह जब खुद कोरोना के पॉजिटीव हों तो प्रदेश के 20 लाख छात्रों और उनके अभिभावकों को कोरोना की महामारी में कैसे धकेल सकते हैं l ऑनलाइन भास्कर ने जब शिक्षा मंत्री श्री कंवरपाल सिंह फोन पर सम्पर्क किया तो उनके सहायक ने बताया कि मंत्री जी की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है इस लिए वे मेदांता में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं l इस संबंध में जो भी जानकारी लेना चाहते हैं आप सेकंडरी शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव डॉ. महावीर सिंह IAS से ले सकते हैं l डॉ. महावीर सिंह के मोबाइल पर कई बार सम्पर्क करने पर भी उन्होंने काल रिसीव नहीं की l गरीब अभिभावकों की जेब पर 10 से 15 करोड़ का खर्चा

UIDAI के ऑफिसियल साइट के मुताबीक ताज़ा फोटो अपडेट करने के लिए 50 रूपये फीस है l एक बार इ-दिशा केंद्र पर आने जाने के लिए इतना ही किराया भाड़ा भी लगेगा, कहीं कहीं जहा इ-दिशा केंद्र जिला मुख्यालय की दुरी अगर ज्यादा हुई तो यह रकम और भी ज्यादा हो सकती है l अगर भीड़ हुई (जो कि पूरी संभावना है ) तो इतना ही खर्चा अगले दिन भी होना तय है l इस तरह कोरोना के इस मंदी के दौर में आर्थिक संकट से जूझते प्रदेश के गरीब अभिभावकों की जेब पर 10 से 15 करोड़ का खर्चा आना भी तय है l

इस संबंध में ज्यादात्तर स्कूलों के संचालकों और शिक्षकों ने आधार कार्ड में ताज़ा फोटो अपडेट करने के फैसले को अनुचित तो नहीं माना पर इस फैसले के लागु करने के समय को लेकर अपनी आपत्ति जरूर जताई l कई प्राइवेट स्कूल संचालकों ने कहा कि जब आप छात्रों को क्लास रूम में इजाजत नहीं दे रहे तब इन छात्रों को इ-दिशा केंद्रों की लाइन में कैसे खड़े कर सकते हैं जहा पहले ही कोरोना संक्रमण अपने चरम पर है l

समाधान का हर संभव प्रयास किया जायेगा
प्राइवेट स्कूल संचालकों के उपरोक्त विचारों से हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चैयरमैन डॉ. जंगवीर सिंह भी कुछ हद तक सहमत नज़र आये और उन्होंने कहा कि इस संबंध में शिक्षा विभाग और हरियाणा सरकार से विचार- विमर्श कर हर संभव समाधान करने का प्रयास किया जायेगा l उन्होंने कहा कि छात्रों का स्वास्थ्य सरकार व् बोर्ड की प्राथमिकता है l स्कूलों में सीधे फोटो अपडेट करने के लिए व्यवस्था सहित सभी विकल्प मौजूद हैं l
डॉ. जंगवीर, चैयरमैन हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी, हरियाणा

Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 8,137,119Deaths: 121,641
Close
Close