Breaking NewsCorona Virusशिक्षाहरियाणा

एसएलसी अनिवार्यता विवाद : प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने जताया सरकार का आभार

SLC Essentials Controversy: Private School Association expresses gratitude to the government

भिवानी। सरकार द्वारा एसएलसी(स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट) की अनिवार्य  करने
के आदेश का प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि
विधायक घनश्यामदास सर्राफ के साथ प्राइवेट स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन का
प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर से मिला था और
उन्होंने आश्वासन दिया है कि अब सरकारी स्कूल में दाखिला के लिए प्राइवेट
स्कूल से एस. एल. सी (स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट) देना अति आवश्यक होगा तभी
बच्चे का दाखिला अन्य स्कूल में हो पाएगा।  जानकारी प्राइवेट स्कूल
एसो.के प्रदेश सचिव रामअवतार शर्मा एवं भिवानी विधायक घनश्याम सर्राफ ने
शनिवार को यहां जनसेवा विद्या विहार में प्रेसवार्ता के दौरान दी। गौरतलब
होगा कि गत दिनों सरकार ने फैसला किया था कि कोरोना कॉल में अगर कोई
बच्चा प्राइवेट स्कूल छोड़कर सरकारी स्कूल में दाखिला लेना चाहता है तो
उसे एसएलसी की आवश्यकता नहीं होगी और बच्चे का दाखिला बिना एसएलसी के ही
सरकारी स्कूल में कर दिया जाएगा। सरकार के इस फैसले का प्रदेश भर के
प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने और संगठनों ने विरोध किया था जिससे सरकार ने
अपने लिए गए फैसले को रद्द करते हुए 26 जून को नोटिफिकेशन जारी किया है
कि इच्छुक विद्यार्थी को स्थाई दाखिला दे दिया जाए और सरकारी विद्यालय की
ओर से पिछले स्कूलों को उसके दाखिले की लिखित सूचना देते हुए स्कूल छोडऩे
का ऑनलाइन प्रमाण पत्र जारी करने का आग्रह किया जाए। उक्त विद्यार्थी का
स्थाई दाखिला उसके द्वारा स्कूल छोडऩे का प्रमाण पत्र उपलब्ध होने पर ही
स्थाई माना जाएगा शिक्षा विभाग द्वारा नोटिफिकेशन सभी स्कूलों को भेज
दिया गया है। इस अवसर पर एसोसिएशन के डी.पी.कौशिक, अमित डागर, करण मिर्ग,
डा.महेंद्र, कर्मवीर शास्त्री, कंवरपाल, सुरेंद्र राठौड़, पुलकित पाहूजा
भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े   माता-पिता और गुरु हमारे जीवन के आधार होते हैं और उनका सम्मान ही जीवन में खुशियां लाता है

x

COVID-19

India
Confirmed: 767,296Deaths: 20,642
Close