Breaking NewsCorona Virusझारखंडबिहारहरियाणा

CORONA: पांच विशेष श्रमिक रेलगाडियों से 7134 प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य में भेजने के लिए रवाना किया

CORONA: Five special laborers left by train to send 7134 migrant workers to their home state

Spread the love

चंडीगढ़, 23 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा है कि हरियाणा राज्य की उन्नति व विकास में प्रवासी श्रमिकों का उल्लेखनीय योगदान है इसलिए कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते राज्य सरकार द्वारा इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए रोजाना विशेष श्रमिक रेलगाडिय़ों को प्रदेश के विभिन्न रेलवे स्टेशनों से चलाया जा रहा है और इसी श्रृंखला में आज विभिन्न स्थानों से पांच विशेष श्रमिक रेलगाडियों से 7134 से अधिक प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य में भेजने के लिए रवाना किया गया।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री का मानना है कि हरियाणा राज्य की उन्नति व विकास में प्रवासी श्रमिकों का उल्लेखनीय योगदान है। संकट की इस घड़ी में जरूरतमंदों की सहायता करना मानवता का सबसे बड़ा धर्म है।
उन्होंने बताया कि आज अंबाला रेलवे स्टेशन से विशेष रेलगाड़ी 1631 प्रवासी श्रमिकों को लेकर बरौनी,बिहार,  इसी प्रकार  गुरुग्राम से 1400 श्रमिकों को लेकर अररिया, बिहार, रेवाड़ी से 1600 प्रवासी मजदूरों को लेकर पूर्णिया, बिहार के लिए, रोहतक से 1500 प्रवासी मजदूरों को लेकर बिहार के भागलपूर के लिए तथा गुरुग्राम से अगरतला, त्रिपुरा एवं असम के 958 श्रमिकों को लेकर गुवाहाटी के लिए रवाना हुई। इसके अतिरिक्त, आज 284 बसों के माध्यम से भी प्रवासी मजूदरों को उत्तर प्रदेश स्थित उनके गंतव्य स्थानों के लिए रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि अब तक हरियाणा की ओर से 61 रेलगाडियां व 5000 बसों के माध्यम से  लगभग 2 लाख 60 हजार प्रवासी  मजदूरों को उनके गृह राज्यों में भेजा जा चुका है। इसी प्रकार, 11,418 श्रमिक बाहर के प्रदेशों से हरियाणा में भी आए हैं।
उन्होंने बताया कि संबंधित जिला प्रशासन की ओर से इन सभी प्रवासी श्रमिकों को नि:शुल्क टिकट के साथ भोजन, पानी की बोतल, मास्क व सैनेटाइजर भी उपलब्ध करवाए गए ताकि रास्ते में उन्हें बुनियादी चीजों को लेकर किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। इसके अतिरिक्त, रेलवे स्टेशन पर इन सबकी स्वास्थ्य जांच भी गई। इन प्रवासी श्रमिकों को रेल के डिब्बों में सोशल डिस्टैंसिग के साथ बिठाने का कार्य भी किया गया।
रेवाड़ी से 1600 प्रवासी मजदूर बिहार के पूर्णिया के लिए रवाना
रेवाड़ी से आज दोपहर एक बजे 1600 खेतीहर व प्रवासी श्रमिकों को लेकर पूर्णिया बिहार के लिए रवाना हुई। रेडक्रास की स्वयं सेवकों ने प्रवासी श्रमिकों को सोशल डिस्टेसिंग के साथ रेल में उनके लिए निर्धारित सीटों पर बिठाया। रेलवे स्टेशन पर श्रमिकों ने लॉकडाउन के दौरान नि:शुल्क यात्रा की व्यवस्था कर उनको गृह राज्य भिजवाने के लिए राज्य सरकार की प्रंशसा की।
प्रवक्ता ने बताया कि इसके साथ ही अब तक जिला रेवाड़ी से 11 श्रमिक स्पेशल ट्रेन के माध्यम से 14,230 प्रवासी खेतीहर श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में भेजा जा चुका है। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी में ज्यादातर मध्यप्रदेश व बिहार से फसल कटाई के समय श्रमिक आते हैं। इसलिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन मध्यप्रदेश व बिहार के लिए रवाना की गई ।
गुरुग्राम से विशेष श्रमिक ट्रेन से  920 प्रवासी नागरिकों तथा 38 बच्चों को भेजा गया सकुशल उनके घर नार्थ-ईस्ट  के अगरतला (त्रिपुरा)
गुरुग्राम के रेलवे स्टेशन से नार्थ -ईस्ट  के अगरतला (त्रिपुरा) के लिए विशेष श्रमिक ट्रेन को शनिवार सांय रवाना किया गया। इस अवसर पर पुलिसकर्मियों, रेलवे स्टाफ व सिविल डिफेंसकर्मियों ने वहां से रवाना किया। इस ट्रेन में  नार्थ -ईस्ट  के अगरतला( त्रिपुरा) के लिए 920 प्रवासी नागरिक तथा 38 बच्चे सकुशल अपने घरों के लिए रवाना हुए हैं।
सभी श्रमिकों की सकुशल घर वापसी की कामना करते हुए उन्हें वहां जाकर भी सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने के लिए प्रेरित किया गया। जिला प्रशासन ने प्रवासी नागरिकों से बातचीत कर उनसे शारीरिक दूरी की पालना सुनिश्चित करने की अपील की और कहा कि वे अच्छी तरह से अपने घरों को जाएं और अपना ध्यान रखें।
ट्रेन में सफर कर रहे   22 वर्षीय गौरव ने बताया कि गुरुग्राम ने उन्हें रोजगार के साथ-साथ अच्छी यादें व मान सम्मान दिया है जिसे वे ताउम्र याद रखेंगे। अपने घर सकुशल वापसी के लिए उसने प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन का धन्यवाद किया।
एक अन्य यात्री ने बताया कि वे अपने घर को जाने के लिए लोकडाऊन में फसे हुए थे लेकिन सरकार ने ट्रेन की व्यवस्था कर उन्हें और उनकी पत्नी को घर जाने का इंतजाम किया है जिससे उन्हें बहुत खुशी हुई।
इसी प्रकार  गुरुग्राम से 1400 श्रमिकों को लेकर अररिया,  बिहार के लिए एक और विशेष श्रमिक ट्रेन को शनिवार सांय रवाना किया गया।
एडीजीपी सीआईडी अनिल राव व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने  बरौनी के लिए रवाना किया 1631 प्रवासी श्रमिकों को
अम्बाला छावनी रेलवे स्टेशन पर करनाल जिले से रोड़वेज बसों के माध्यम से शनिवार पहुंचे 1631 प्रवासी श्रमिकों को एडीजीपी सीआईडी अनिल राव व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने स्पेशल ट्रेन के माध्यम से बरौनी के लिए रवाना किया गया। प्रवासी श्रमिकों ने  अपनी खुशी जाहिर करते हुए प्रदेश सरकार का धन्यवाद किया।  इस मौके पर प्रवासी श्रमिकों के साथ रवाना होने वाले बच्चों को खिलौने व बिस्कुट भी दिए गए।
प्रवासी श्रमिकों ने भी राज्य सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि संकट की घड़ी में सरकार द्वारा उन्हें उनके घर सहकुशल भेजने का काम किया हैं, इसके लिए वे उनका दिल से आभार व्यक्त करते हैं।
रोहतक से बिहार के भागलपुर के लिए रवाना हुई स्पेशल ट्रेन
रोहतक रेलवे स्टेशन से आज शाम 6 बजे भागलपुर (बिहार) के लिए रवाना हुई स्पेशल श्रमिक रेलगाड़ी में 1500 श्रमिक तथा 45 बच्चें सवार हैं। यह सभी प्रवासी श्रमिक हरियाणा के झज्जर, सोनीपत, सिरसा, हिसार व रोहतक से भागलपुर के लिए गए हैं।
रोहतक रेलवे स्टेशन से जैसे ही रेलगाड़ी भागलपुर के लिए रवाना हुई तो गाड़ी में सवार श्रमिकों ने खिडक़ी से हाथ बाहर निकालकर प्लेटफॉर्म पर मौजूद अधिकारियों का अभिवादन किया। अधिकारियों ने भी जवाब में  उनके शुभ यात्रा की कामना भी की।

Close