Breaking Newsक्राइमहरियाणा

दुर्गा भवन मंदिर के पास दिनदहाड़े पेचकस मारकर एक युवक की हत्या

दिनदहाड़े हुई इस हत्याकांड से जहां लोगों में दहशत का माहौल

Spread the love

रोहतक से अनूप कुमार सैनी की रिपोर्ट

मृतक के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम हेतु पीजीआई भेजा

रोहतक में सुप्रसिद्ध दुर्गा मन्दिर के सामने एक युवक की पेचकश से गोद गोद कर मौत के घाट उतार दिया। दिनदहाड़े हुई इस हत्याकांड से जहां लोगों में दहशत का माहौल है, वहीं पुलिस की कार्यशैली पर भी लोग ऊंगली उठा रहे हैं। रोहतक पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात आटो चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है और मृतक के शव को पोस्टमार्टम हेतु पीजीआई भेज दिया है।
वीओ 1 मृतक मूलरूप से यूपी के शामली जिले का रहने वाला था और रोहतक के आंबेडकर नगर में अपनी बुआ के पास रहता था। वह यहीं रहकर मजदूरी करता था। वहीं चचेरा भाई मैकेनिक का काम करता है। सोमवार को चचेरा भाई सर्विस करने के बाद ऑटो रिक्‍शा को नए बस स्टैंड छोड़ने जा रहा था। इस दौरान उसका चचेरा भाई भी साथ था। इस दौरान सड़क से जा रहे एक व्‍यक्ति के साथ दुर्गा भवन मंदिर के पास चौक पर कहासुनी हो गई।
सड़क से जा रहा युवक टोकने पर इतना तैश में आया गया कि दोनों भाइयों पर हमला कर दिया। दोनों भाइयों ने भी बचाव के लिए आरोपित पर हमला किया। मगर आरोपित ने युवक का सिर ऑटो रिक्‍शा में दे मारा, फिर पेचकस से भी हमला कर दिया। इसमें युवक की मौत हो गई तो वहीं चचेरा भाई भी घायल हो गया।
हमले में आरोपित भी घायल हुआ था मगर वह मौके से फरार हो गया।
घायल युवक ने घर पर फोन कर उनके साथ घटी घटना के बारे पूरी जानकारी दी। घायल को सिविल अस्‍पताल में भर्ती करवाया है। इतनी छोटी सी बात को लेकर जवान बेटे की हत्‍या की बात सुन परिजन सदमे में है तो ये बात उनको कचोटे जा रही है कि आखिर इतनी सी बात पर कोई हत्‍या कैसे कर सकता है। पुलिस आरोपित को पकड़ने की कोशिश में जुटी है तो वहीं परिजनों के बयान पर आधारित कार्रवाई करने का आश्‍वासन भी दिया है।
हत्या की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और बाद में एसएफएल टीम को भी बुलाया। घटना की जानकारी मिलने के बाद डीएसपी गोरखपाल ने मौके पर पहुंच घटनास्थल का मुआयना किया।
लाकडाऊन खुलने के बाद रोहतक शहर में यह पहला मर्डर है। यहां पुलिस की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिन्ह उठ रहे हैं। जिस स्थान पर युवक की दिनदहाड़े पेचकस घोंप-घोंप कर निर्ममता से हत्या कर दी गई। कुछ कदम दूरी पर ही ओल्ड शहर पुलिस थाना चौक पर कई पुलिस कर्मियों की डयूटी रहती है। इससे तो साफ लगता है कि युवक की हत्या करने वाले युवकों में पुलिस का कोई खौफ ही नहीं लगता था। हैरत की बात यह भी है कि चौक पर तैनात पुलिस कर्मियों व होमगार्डों ने युवक को बचाने के प्रयास क्यों नहीं किए।

Close