हरियाणा

आशा वर्कर्स डोर-टू-डोर जुटा रही हैं खांसी, बुखार, जुखाम, शुगर, बी पी की जानकारी 

Spread the love

राजेंद्र कुमार
सिरसा, 14 अप्रैल। कोरोना महामारी को रोकने के लिए सरकार व प्रशासनिक तंत्र पूरी मुस्तैदी से कार्य कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी जहां अस्पतालों में मरीजों का उपचार कर रहे हैं, वहीं प्रशासन ने आशा वर्कर्स की ड्यूटी डोर-टू-डोर सर्वे कार्य के लिए लगाई  हुई है।
आशा वर्कर्स युनियन की जिला प्रधान कलावती माखोसरानी ने बताया कि सभी आशा वर्कर्स अपनी जान जोखिम में डालकर तन-मन-धन से अपनी ड्यूटी कर रही हैं। इसके साथ-साथ वे लोगों को जागरूक भी कर रही हैं कि लॉकडाऊन के दौरान वे अपने घरों से बाहर न निकलें। जहां तक हो सके घरों में ही रहें। क्योंकि कोरोना महामारी का पूरे विश्व में अभी कोई उपचार उपलब्ध नहीं हो पाया है। इसलिए एक-दूसरे से दूरी ही इससे बचने का एकमात्र उपाय है।
ये जानकारी जुटा रही हैं आशा वर्कर्स:
विपदा की इस घड़ी में स्वास्थ्य विभाग ने आशा वर्करों की डोर-टू-डोर सर्व करने की ड्यूटी लगाई है। सर्वे कार्य के दौरान आशा वर्कर्स घर-घर जाकर परिवार के सदस्यों का डाटा एकत्रित कर रही हैं, वहीं ये भी पता करेंगी कि परिवार के किसी सदस्य को खांसी, बुखार, जुखाम, शुगर, बी पी तो नहीं है। इसके साथ-साथ गांव में कोई व्यक्ति विदेश से तो नहीं आया है।

Close