हरियाणा

फसल की कटाई, खरीद व खरीफ की बिजाई में किसानों को नहीं आने देंगे कोई परेशानी – डिप्टी सीएम

रेपिड टेस्टिंग किट के लिए आईसीएमआर से मिली मंजूरी, पांच मिनट में आएगी कोरोना की रिपोर्ट - दुष्यंत चौटाला

Spread the love

चंडीगढ़, 8 अप्रैल।

कोरोना वायरस की फैली महामारी के बाद लगे लॉकडाउन के दौरान हरियाणा सरकार प्रदेश के किसानों को किसी प्रकार की अड़चन आड़े नहीं आने देगी। इसके लिए सरकार फसल की कटाईफसल की खरीद व किसानों से संबंधित तमाम साधन उपलब्ध करवाएगी। इतना ही नहीं नए सीजन खरीफ की बिजाई के लिए बीज की भी व्यवस्था सरकार कर रही है। यह जानकारी आज उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने चंडीगढ़ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम हुई सर्वदलीय बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी। उन्होंने बताया कि बैठक में तमाम पार्टी के नेताओं ने कोरोना महामारी के बाद बनी स्थितिफसल खरीद समेत कई मुद्दों पर चर्चा की। जिसमें सरकार ने तमाम नेताओं से उनके सुझाव मांगे तो वहीं उन्होंने अपने-अपने सुझाव रखे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि नेताओं ने फसल खरीद पर सरकार द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं की सराहना की।

 

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में सभी नेताओं का सुझाव था कि कोरोना महामारी के मद्देनजर मंडियों में भीड़ न हो और किसानों की सुविधाओं को देखते हुए उनकी फसल को बेहतर तरीके से खरीदा जाए। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार गेहूं की फसल के लिए गांवों में ही खरीद की व्यवस्था कर रही है। इसके लिए करीब 10 हजार लोगों की मैनपॉवर की आवश्यकता होगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार जरूरत अनुसार गेहूं खरीद के लिए अन्य विभागों के कर्माचरियों की भी सहायता लेगी।

 

दुष्यंत चौटाला ने प्रदेश के किसानों को विश्वास दिलाते हुए अपील की कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं हैसरकार किसानों की फसल का एक-एक दाना खरीदेगी। उन्होंने कहा कि इस संकट की घड़ी में सबको मिलकर चलना होगा। उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरियां के एहतियात को बरतते हुए मंडियों में भीड़ एकत्रित न होइसके लिए सरकार फसल खरीद के बेहतर इंतजाम कर रही है। उन्होंने कहा कि इसमें सरकार को आढ़तियों का भी सहयोग मिल रहा है कि वे गेहूं खरीद के लिए बनाए केंद्रों पर जाकर फसल की खरीद करेंगे। 

 

यह भी पढ़े   जबरा गैंग का आतंक दिन दिहाड़े करनाल नैशनल हाईवे पर स्विफ्ट कार सवार युवक को मारी गोलिया

उन्होंने किसानों की गेहूं की कटाई के लिए कंबाइन की व्यवस्था पर बोलते हुए कहा कि पंजाब सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया। 4500 कंबाइन के साथ और कंबाइनों की भी व्यवस्था की जा रही है। वहीं श्रमिकों पर बोलते हुए उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि अच्छी खबर ये है कि शेल्टर होम में ठहरे करीब 16 हजार श्रमिकों में से हजार से ज्यादा श्रमिक अपने रोजगार की तरफ वापस लोट रहे है। इससे गेहूं की कटाई में किसानों को लाभ मिलेगा।

 

उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने आगामी नए सीजन खरीफ की बिजाई को लेकर किसानों को आशवस्त किया कि सरकार बिजाई के लिए किसानों को समय पर कपास समेत अन्य खरीफ के फसलों के बीज उपलब्ध होइसके लिए व्यवस्था कर रही है। इसके लिए सरकार की कॉटन कॉरपोरेशन व महाराष्ट्र सरकार से बातचीत हो चुकी है। वहीं दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कृषि  संबंधित साधनों पर लॉकडाउन का असर नहीं पड़ने देंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में सरकार आदेश जारी कर चुकी है कि किसानों को कृषि से संबंधित तमाम साधनों व उनके रिपेयर वर्कशॉप के लिए स्पेशल पास (परमिट) दें ताकि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न हो।

 

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना वायरस से बनी मौजूदा स्थिति में सभी लोग पूरी तरह से गंभीर है। उन्होंने विश्वास जताया कि जिस प्रकार से तमाम राजनीतिक दल कोरोना महामारी से निपटने के लिए एक होकर मजबूती से जंग लड़ रहे हैजो कि प्रदेश की एकता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा कोरोना से मजबूती से लड़ेगा भी और जीतेगा भी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा बैठक में तमाम नेताओं ने कहा कि जरूरत पड़ने पर विधायकों के वेतन भते को कोराना राहत कोष में देने बारे सरकार विधायकों से चर्चा करें। उन्होंने इसके बारे में बताते हुए बताया कि कोरोना राहत फंड के लिए सरकार सभी विधायकों और पूर्व विधायकों से फोन पर चर्चा करके उनके सुझाव लेगी।

 

यह भी पढ़े   फसलों का खरीदा जाएगा दाना-दाना:सर्राफ

वहीं उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने खुशी जाहिर करते हुए ये भी बताया कि कोरोना संक्रमितों का पता अब और तेजी से चलेगा। इसके लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने हरियाणा के लिए रेपिड टेस्टिंग किट को मंजूरी दी है। इस किट के जरिए कोरोन वायरस की रिपोर्ट आठ घंटे की बजाय सिर्फ पांच मिनट में आ जाएगी। वहीं उन्होंने कहा कि इसके साथ जिन क्षेत्रों में कोरोना के ज्यादा मामले सामने आए हैंउनमें कम्युनिटी लॉकडाउन के साथ विशेष निगरानी भी की जाएगी।

Close