हरियाणा

हरियाणा में सत्तापक्षऔर विपक्ष दोनोंंं ही बेकार: अशोक तंवर

राजेंद्र कुमार
सिरसा, 14 जनवरी। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने कहा कि सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों ही बेकार हैं और दोनों की भूमिका अभी तक इस स्तर पर नजर नहीं आती कि वे लोकहित में काम कर रहे हैं। सत्ता में बैठे नेताओं ने अभी तक जनता से किए गए अपने किसी भी वायदे को नहीं निभाया है।
अशोक तंवर आज अपने आवास पर मीडिया से रूबरू हो रहे थे।
उन्होंने कहा कि उन्होंने करीब 26 वर्ष राजनीतिक स्तर पर लोगों की सेवा की है और अब भी वे लोकहित के अपने परम लक्ष्य में जुटे रहते हैं। उन्होंने कहा कि यह कोई आवश्यक नहीं कि लोकसेवा के लिए कोई राजनीतिक मंच जरूरी हो। दिल्ली में निकट भविष्य में होने वाले चुनावों के मद्देनजर उन्होंने कहा कि दिल्ली उनकी
कर्मभूमि रही है और यहां उन्होंने विभिन्न पदों पर रहते हुए कार्य किया है। दिल्ली विस चुनावों में राजनीतिक स्थितियों के मुताबिक किस राजनीतिक दल को अपना समर्थन दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यूं तो अनेक राजनीतिक दलों की ओर से उनसे मदद मांगी जा रही है मगर जिसके साथ समान विचारधारा बनेगी और जो विचारधारा देश को मजबूत बनाएगी, वे उसी को अपना समर्थन देंगे मगर अभी तक उनके लिए राजनीतिक स्थितियां विचारणीय हैं।
जे एन यू एवं जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों को पढ़ाई के बदले हिंसा करवाने व भटकाए जाने की राजनीति की भी डॉ. अशोक तंवर ने कड़ी निंदा की। कांग्रेस में रहते हुए पिछले पांच सालों तक निरंतर संघर्ष करने वालों को कांग्रेस से बाहर करने के षडयंत्र में शामिल लोगों पर एक बार फिर निशाना साधते हुए डॉ. अशोक तंवर ने कहा कि हरियाणा का कार्य देखने वाले एआईसीसी के पदाधिकारियों की यह कमजोर स्थिति रह गई कि हरियाणा के हितों को नुकसान पहुंचाने वालों के मंसूबों को वे परख नहीं पाए और उन्हीं पर एतबार जताते हुए चुनाव लड़ा। ये वही लोग थे जिन्होंने अपने षड्यंत्रों से पार्टी के लिए पसीना बहाने वाले लोगों को पार्टी से बाहर जाने पर मजबूर कर दिया और स्वयं संगठन पर डाका डालने में कामयाब हो गए।

x

COVID-19

India
Confirmed: 742,417Deaths: 20,642
Close