हरियाणा

मछली पालन में रोजगार और आय बढ़ाने की अपार संभावनाएं:जेपी दलाल

Spread the love

भिवानी, 14 दिसंबर।        कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री जयप्रकाश दलाल ने कहा कि मत्स्य पालन बहुत बड़ा व्यवसाय है। इसमें रोजगार और आय बढ़ाने की अपार संभावनाएं हैं। इसलिए बेरोजगार युवाओं को इस व्यवसाय को अपनाना चाहिए। सरकार द्वारा इस व्यवसाय को अपनाने वालों को हर संभव सहायता मुहैया करवाई जाएगी। भिवानी के अलावा जहां-जहां भी मत्स्य पालन का हब होगा, उस जिले में पीसीआर लैब खोली जाएगी ताकि वहां पर मच्छली पालन के लिए मिट्टी व पानी की समय-समय पर जांच की जा सके। उन्होंने कहा कि भिवानी जैसे अधिकांश रेतीले भूमि वाले इलाके में झींगा मच्छली पालन की अपार संभावनाएं हैं। उनको उद्देश्य प्रदेश को मच्छली पालन में देश में तीसरे नंबर की बजाय पहले नंबर पर लेकर जाने का है।
श्री दलाल शनिवार को स्थानीय लोक निर्माण विश्राम गृह में प्रदेशभर के मच्छली पालकों की समस्याएं सुन रहे थे। इस दौरान मच्छली पालन के सफल व असफल दोनों ही किसान शामिल थे, जिन्होंने अपने-अपने अनुभव सांझा किए। मत्स्य विभाग के मंत्री श्री दलाल ने सबसे मच्छली पालन में विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करने व घाटा का सौदा मान रहे मच्छली पालकों से बात की, जिस पर उन्होंने बताया कि मच्छली पालन में उनके समस्या समुचित बिजली न मिलने व व्यवसायी बिजली बिल अदा करने किए जाने की समस्या है। बिजली के भारी भरकम बिल आने से उनको नुकसान होता है। इस पर श्री दलाल ने कहा कि मच्छली पालकों को कम से कम दर पर बिजली मुहैया करवाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं और इस समस्या का शीघ्र ही समाधान हो जाएगा। प्रह्लादगढ़ से योगेंद्र कुमार, डोहकी से विनोद पूनिया, मुंढ़ाल से जोगेंद्र सहित अनेक मच्छली पालन का व्यवसाय करने वालों से अपनी-अपनी समस्या रखी। उन्होंने मच्छली का सही सीड नहीं मिलने की समस्या प्रमुखता के साथ रखी। उन्होंने कहा कि सीड की भी सही ढंग से जांच होनी चाहिए, जिससे उत्पादन कम न हो।
श्री दलाल के समक्ष मच्छली पालन में कामयाबी हासिल करने वाले झज्जर निवासी एयरफोर्स से सेवानिवृत प्रदीप कुमार ने बताया कि उनका गुरूग्राम में फार्म है और उन्होंने वे मच्छली पालन से अव्छी खासी कमाई कर रहे हैं। इसी प्रकार से फतेहाबाद से एक मच्छली पालक ने भी अपने फार्म द्वारा एक साल में ही लागत पूरी करने की बात कही। उन्होंने कहा कि चाहे कोई भी व्यवसाय में स्वयं का जागरूक व नवीनत्तम तकनीक को अपनाना जरूरी है। श्री दलाल ने कहा कि मच्छली पालन में आने वाली समस्याओं को प्रमुखता से दूर किया जाएगा।
इस दौरान मत्स्य विभाग के एसीएस सुनील गुलाटी, निदेशक प्रेम सिंह मलिक, उप निदेशक बलबीर सिंह भी मौजूद रहे और उन्होंने मच्छली पालकों के सामने आ रही समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया। अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. मनोज कुमार ने श्री दलाल का लोक निर्माण विश्राम गृह में पहुंचने पर स्वागत किया। इस मौके पर भिवानी से विधायक एवं पूर्व मंत्री घनश्याम दास सर्राफ, जिला मत्स्य अधिकारी जयप्रकाश वर्मा, पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ. जय सिंह, कृषि विभाग के उप निदेशक डॉ. प्रताप सिंह सभ्रवाल, जिला बागवानी अधिकारी डॉ. हीरालाल, नंदराम धानिया, मीना परमार व रविंद्र मंढोली, विजय शेखावत, अनिल झांझडिय़ा, कमलेश भोड़ूका, राजीव श्योराण, सोनू शर्मा, दयानंद सिंधड़ के अलावा प्रदेशभर के मत्स्य विभाग के अनेक अधिकारी व कार्यकत्र्ता मौजूद थे।

Close