Breaking Newsक्राइमदुनियासभी खबरें

आईटीबीपी के जवान ने 5 साथियों की अंधाधुंध गोलियां बरसा कर हत्या की, खुद को भी गोली मारी

Spread the love

आईटीबीपी की 45वीं बटालियन में एक कांस्टेबल ने अपनी सर्विस राइफल से अपने पांच साथियों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर उनकी जान ले ली। इसके बाद उसने खुद को भी गोली मार ली, जिससे उसकी भी मौत हो गई। मृतकों में हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह भी शामिल हैं जो हिमाचल के बिलासपुर जिले निवासी है ।फिलहाल यह जानकारी नहीं मिल सकी कि जवान ने ऐसा खतरनाक कदम क्यों उठाया। लेकिन माना जा रहा है कि वह छुट्टियां नहीं मिले से तनाव में था।

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि आईटीबीपी कैंप में कांस्टेबल मसदूल रहमान ने सुबह साढ़े आठ बजे अचानक अपने साथियों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसमें चार जवानों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन घायल हो गए। एक जवान की अस्पताल में इलाज के दौरान जान चली गई। वारदात को अंजाम देने के बाद रहमान ने खुद को भी गोली मार ली।

मृतकों में हिमाचल निवासी हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह, पश्चिम बंगाल नॉर्थ श्रीरामपुर के निवासी कांस्टेबल सुरजीत सरकार और कांस्टेबल विश्वरूपी महतो निवासी खुक्रामपुरा पुरलिया, हेड कांस्टेबल दलजीत सिंह निवासी जागपुर लुधियाना पंजाब, कांस्टेबल बजीश निवासी एरावतूर कोझिकोड केरल शामिल हैं।
घायल जवानों में कांस्टेबल उल्लास निवासी तिरुवनंतपुरम केरल और कांस्टेबल सीताराम निवासी राजस्थान शामिल हैं। घायल जवानों को हेलिकाप्टर से रायपुर ले जाया गया। अभी तक जवान का शव बिलासपुर नहीं पहुंचा है। शव पहुंचने के बाद सैन्य सम्मान के साथ जवान को अंतिम विदाई दी जाएगी।

Close