हरियाणा

करनाल के हर पीडि़त और दुखी व्यक्ति के दुख में शामिल : त्रिलोचन सिंह

मुख्यमंत्री द्वारा की जा रही उपेक्षा से दुखी मदान का समर्थन किया त्रिलोचन सिंह ने धरना स्थल पर पहुंच कर दिया समर्थन और साथ

Spread the love

करनाल 04 दिसम्बर(शिव कुमार)
करनाल के विधायक तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा करनाल विधान सभा क्षेत्र की की जा रही उपेक्षा तथा मुख्यमंत्री द्वाीरा करनाल विधानसभा क्षेत्रत्र को पर्याप्त समय देने की मांग को लेकर अखिल भारतीय मुल्तानी परिंमंडल के अध्यक्ष प्रो. जोगिंदर मदान द्वारा दिए जा रहे धरने का समर्थन कांग्रेस के जिला संयोजक तथा मुख्यमंत्री के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ चुके त्रिलोचन सिंह ने अपना समर्थन दिया। उन्होंने धरना स्थल पर पहुंच कर प्रो. मदान के साथ धरना देकर उनकी मांग को सपोर्ट किया। धरना स्थल पर कांग्रेस के जिला संयोजक त्रिलोचन सिंह ने कहा कि वह प्रो. मदान की बात से पूरी तरह से सहमत हैं। प्रो. दान एक समाज के प्रतिश्ठित व्यक्ति हैं। इस लिए वह उनकी पीढ़ा को समझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह हर उस व्चयक्ति के साथ हैं जो करनाल में पीढि़त हैं। करनाल के लोों ने उनका जिस तरह से साथ दिया उसके लिए वह करनाल के कर्जदार हैं। करनाल की समस्याओं को वहएक करनाल के प्रतिनिधि के नाते उठाते रहेंगे। इस अवसर पर प्रो. मदान ने कहा कि करनाल विधानसभा के चुनाव को लगभग डेढ़ महीना होने जा रहा है। करनाल की जनता ने विपरीत परिस्थितियों में भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भारी मतों से विधायक बनाया। करनाल के कार्यकर्ताओं ने सारा चुनाव का कार्यभार संभाला और मुख्यमंत्री मनोहर लाल पूरे हरियाणा में प्रचार करने जाते रहे। जहाँ प्रदेश में अनेक मंत्री चुनाव हार गए परंतु कार्यकर्ताओं के दम पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल चुनाव जीत गए। विपरीत परिस्थितियों में चुनाव जीतने के पश्चात भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कार्यकताओं का अभी तक धन्यवाद करना उचित नहीं समझा। यहाँ का कार्यकर्ता और वोटर अपने को ठगा महसूस कर रहा है। कार्यकर्ता मुख्यमंत्री के इस व्यवहार से खिन्न है, उनका उत्साह और मनोबल टूटा हुआ है। मुख्यमंत्री कार्यकर्ताओं का और वोटरों का धन्यवाद करने का मन बनाते हैं और कार्यकर्ताओं के साथ सरलता से अपनत्व दिखाते हैं तो उनका मान-सम्मान बढ़ेगा और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा समाप्त होगी। मुख्यमंत्री पूरे हरियाणा के हैं विधायक करनाल के हैं। इसलिए मुख्यमंत्री करनाल की जनता को अपना परिवार समझें और उन्हें भी प्रति सप्ताह समय देने की मानसिकता बनाएं। विकास कार्य और ईमानदारी अपनी जगह है अपने वोटरों और कार्यकर्ताओं से संजीव सम्पर्क होना भी जरूरी है।

Close