Breaking Newsशख्सियतशिक्षा

टीआईटी कॉलेज में आगमन 2 के 19 का आयोजन, लक्ष्य सुखीजा प्रिंस व तान्या रंगूटा बनी प्रिंसस

Spread the love

भिवानी। बिरला समूह द्वारा स्थापित देश के प्रतिष्ठित तकनीकी शिक्षण संस्थान टीआईटी कॉलेज में नए विद्यार्थियों के कार्यक्रम की
शुरूआत मुख्यअतिथि एमडीयू के रजीस्ट्रार प्रो. गुलशन तनेजा एवं टीआईट कॉलेज निदेशक प्रो. जीके त्यागी तथा वरिष्ठ प्रोफेसरों द्वारा मां
सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं पुष्पार्पित कर हुई। सांस्कृतिक संध्या की शुरूआत स्वागत गीत की प्रस्तुति से हुई। विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए प्रो. डा. जीके त्यागी ने कहा कि टीआईटी कॉलेज के छात्र पिछने 75 वर्षों से भी अधिक समय से देश के तकनीकी विकास में अपना सहयोग
देते रहे हैं। यहां के छात्रों की कार्य कुशलता, तकनीकी कौशल और कड़ी
मेहनत का ही नतीजा है कि इस संस्था ने देश-विदेश में नए आयाम स्थापित किए हैं। तत्त्पश्चात रूबय गु्रप द्वारा बड़ों का सम्मान शीर्षक से लघु
नाटिका प्रस्तुत की। मुख्यअतिथि प्रो. गुलशन तनेजा ने कार्यक्रम को
संबोधित करते हुए कहा कि इस तहर की सांस्कृतिक गतिविधियां विद्यार्थियों
की सम्पूर्ण व्यक्तित्व को बढ़ाते हैं। उन्होंने कहा कि सफलता प्राप्त
करने के लिए स्वप्र देखना, लक्ष्य निर्धारित करना और समय प्रबंधन अति आवश्यक है। उन्होंने कहा िक जिस भी क्षेत्र में कैरियर बनाएं, उत्कृष्टता हॉसिल करें पर साथ-साथ सांस्कृतिक एवं खेलकूद की गतिविधियां भी जारी रखनी
चाहिए। इनसे शारीरिक ही नहीं अपितू मानसिक सुदृड़ता भी मिलती है। उनके द्वारा प्रस्तुत गीत ने समां बांध दिया। सांस्कृतिक गतिविधियों में
हाईब्रिड गु्रप एवं डार्क शडो द्वारा गाईम की प्रस्तुति दी गई। सकून
गु्रप द्वारा उडज़ा काले कॉवा तथा दिल दियाँ गल्लां गीत प्रस्तुत किए गए। जिसने सबको झूमने पर मजबूर कर दिया। ऑपरिमिस्टिक एवं डेजलर गु्रप द्वारा डांस प्रस्तुति ने भी चार चांद लगा दिए। हिपस्टटर और महाराजाज द्वार रैप प्रस्तुति ने भी अपनी प्रस्तुति दर्ज करवाई। शेरे-ए-पंजाब द्वारा प्रस्तुत बंगड़ो ने लोगों को अपने स्थान पर थिरकने पर मजबूर किया। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षक केन्द्र प्रिंस एवं प्रिंसस प्रतियोगिता रही। जिसमें लड़कों में निखिल सिंह, प्रबल, प्रताप सिंह, अपूर्व रौनक, दिवांश एवं लक्ष्य सुखीजा तथा लड़कियों में अप्सरा, जगंती, पूर्वी, वैशाली, तान्या रंगूटा और हिना ने अंतिम छ: में जगह बनाने में सफलता पाई थी। कार्यक्रम को सफल बनाने में संजय रहेजा, डा. गोपाल, गौरव, तन्वी, सौगात,
नेहा, प्रशांत एवं कनिका का अहम योगदान रहा। इस अवसर पर टीआईटी परिवार के
सभी सदस्य उपस्थित थे।

Close