Breaking NewsHaryanaराजनीती

आदमपुर हल्के मे आज तक कायम भजनलाल परिवार का इतिहास, यहां भजनलाल के गीत गाते हैं लोग।

Spread the love

आदमपुर हल्के मे आज तक कायम भजनलाल परिवार का इतिहास, यहां भजनलाल के गीत गाते हैं लोग।
सिवानी मण्डी ( सुरेन्द्र गिल ) हरियाणा के लोग इतिहास रचने में माहिर हैं, फिर चाहे वह खेल का क्षेत्र हो या राजनीति का। वहीं कांग्रेस को 42 साल जीत हासिल नहीं हुई। खेल के मामले में राष्ट्रीय फलक पर पहुंचा हरियाणा आज कल राजनीति को लेकर चर्चा में है। अभी तक इनेलो और कांग्रेस के बीच जूझ रही हरियाणा की जनता ने ऐसा इतिहास रचा कि 2014 में सत्ता की बागडोर भाजपा के हाथ में दे दी। राजनीतिक आस्था का नमूना देखना हो तो हिसार के आदमपुर में आइये। पूर्व सीएम भजनलाल भले ही अब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन क्षेत्र की जनता अभी तक उनके परिवार को तवज्जो देती है। आदमपुर से पिछले 52 साल से भजनलाल परिवार का ही कब्जा है। मोदी लहर में भी कुलदीप बिशभनोई यह सीट बचाने में कामयाब रहे। 1968 में पहली बार यहां से भजनलाल को चुन कर जनता ने सेवा के लिए भेजा था।

Close