Breaking Newsक्राइमदुनियाबिहार

बिहार सरकार के वन विभाग का कारनामा नील गाय को जिन्दा दफनाया

Spread the love

 

बिहार : बिहार सरकार के वन विभाग का एक निर्दयता का कारनामा सामने आया है जिसे पशु क्रूरता का सबसे घटिया उदाहरण कहा जाये तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी l इस तरह की क्रूरता आम तौर पर शिकारियों द्वारा भी नहीं की जाती तो किसी सरकारी इदारे द्वारा इस तरह की क्रूरता की इजाजत कैसे दी जा सकती हैl बता दें कि किसानों की मांग पर बिहार सरकार ने किसानो की फसलों को नुकसान पहुंचा रही 300 नीलगायों को मारने की मंजूरी प्रदान कर दी l सरकारी अमले द्वारा इस अभियान के लिए शिकारियों को किराये पर लिया गया l इन तीन सौ नीलगायों को गोली से मारने की करवाई को अंजाम दिया जाना था l लेकिन एक नील गाय को जिन्दा दफनाने का विडिओ सार्वजनिक वायरल होने से यह मामला सुर्ख़ियों में बना हुआ है l

नील गाय को जिन्दा दफनाने के मामले में स्काउट्स एंड गाइड्स फॉर एनिमल एन्ड बर्ड्स के राष्ट्रिय कमिश्नर नरेश कादियान ने संज्ञान लेते हुए इस मामले में बिहार वन्यप्राणी के मुख्य संरक्षक से नीलगायों पर क्रूरता के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ करवाई की जानकारी ली गई l मुख्य संरक्षक वन्य प्राणी व् जीव जंतु, बिहार ने बताया कि मामला पूरी तरह उनके संज्ञान में है l मौके पर मौजूद अफसरों, कर्मचारियों, हायर किये गए शिकारियों और जेसीबी चालक के खिलाफ वन्यप्राणी रंरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज़ किया गया है l दोषी लोगो के खिलाफ नियमानुसार करवाई की जाएगी l

 

 

 

Close