राजनीतीहरियाणा

– जननायक जनता पार्टी तथा बसपा गठबंधन से कॉन्ग्रेस तथा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को लगा झटका

Spread the love
भिवानी 13 अगस्त (     ) आज दिनांक 13 अगस्त को प्रेस के नाम विज्ञप्ति जारी करते हुए वंदे मातरम राष्ट्रीय क्रांति आंदोलन के संयोजक बिशन स्वरूप केडिया ने हरियाणा प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ विधानसभा का चुनाव लड़ने के अपने निश्चय को दोहराते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से प्रेस के माध्यम से तंज कसा है कि खट्टर विगत में जब भिवानी आए थे तब उन्होंने कहा था कि
कार्यकर्ता मेरी प्राथमिकता नहीं है। फिर उन्होंने चुनाव नजदीक आने पर पूरे हरियाणा में कार्यकर्ताओं पर फूलों की पंखुड़ियां बरसाने का ढोंग क्यों किया? अगर उनमें हिम्मत है तो आज भी वह हौसला करें और कहे कि कार्यकर्ता मेरी प्राथमिकता नहीं है और दोबारा चुनाव जीतकर दिखाएं।
जननायक जनता पार्टी तथा बसपा के गठबंधन होने पर बदले राजनीतिक घटनाक्रम पर उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में यह गठबंधन हरियाणा प्रदेश में चौकानेवाले परिणाम लेकर आ सकता है। बसपा द्वारा जननायक जनता पार्टी से गठबंधन होने से कांग्रेस को तो लकवा सा मार गया है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का अलग पार्टी बनाने का सपना भी चकनाचूर हो गया है। हो सकता है अब उन्हें अशोक तंवर के साए में रहकर अपना राजनीतिक अस्तित्व बचाना पड़े। क्योंकि बसपा का जननायक जनता पार्टी के साथ गठबंधन हो जाने के बाद कांग्रेस नेतृत्व के पास इतना मादा नहीं है कि वह अशोक तंवर को प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाकर भूपेंद्र सिंह हुड्डा के हाथ में प्रदेश की कमान सौंप सकें। 
 
भविष्य में जननायक जनता पार्टी में शामिल होने के बारे में श्री केडिया ने बताया कि दुष्यंत व दिग्विजय अजय सिंह चौटाला के होनहार व शिक्षित युवा नेता है जिनके साथ जुड़ने पर एक तरफ जहां उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्राप्त  प्राप्त होगा वहीं इस गठबंधन को भी भारी फायदा होगा मगर इसके लिए अगर दुष्यंत यादव या दिग्विजय खुद पहल करते हैं तभी वह इस बारे में  विचार कर पाएंगे। जननायक जनता पार्टी अगर उन्हें प्रदेश स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्रदान नहीं करती है तो वह भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करने वाले नेताओं की तरह मुंह लटका कर बैठने के लिए जननायक जनता पार्टी ज्वाइन नहीं करेंगे।
किसी भी पार्टी में शामिल ना होने की सूरत में आगामी राजनैतिक पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि वह हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जहां से भी चुनाव लड़ेंगे वहां से निर्दलीय उम्मीदवार रहकर चुनाव लड़ेंगे तथा अपने हुनर व प्रतिभा का प्रदर्शन करके मुख्यमंत्री को चुनाव मैदान में धूल चटाने का कार्य करेंगे जो कि एक करिश्मा होगा।
विष्णु केडिया ने कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव में हरियाणा की जनता को यह देखने के लिए मिलेगा कि एक निर्दलीय उम्मीदवार ने भारतीय जनता पार्टी द्वारा छोड़े गए अश्वमेध यज्ञ के घोड़े यानी मनोहर लाल खट्टर को उनके अपने विधानसभा क्षेत्र में पकड़ कर बांध दिया है जिसे छुड़वाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वश में भी नहीं है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अपना विधानसभा क्षेत्र छोड़कर हरियाणा प्रदेश के अन्य किसी क्षेत्र में चुनाव प्रचार पर नहीं जा पाएंगे। 

Close