Breaking Newsराजनीतीस्थानीय खबरें

429 स्कूलों में विज्ञान संकाय बंद करने के खिलाफ हसला ने किया प्रदर्शन

Spread the love

सरकार छात्र संख्या बढ़ाकर विज्ञान संकाय को दोबारा शुरू करे-दयानंद दलाल

रोहतक, 7 अगस्त। प्रदेश के 429 सरकारी स्कूलों में बंद किए गए विज्ञान संकाय को बहाल करने व प्रस्तावित ट्रांसफर ड्राइव की विसंगतियों को दूर करने के लिए हरियाणा स्कूल लैक्चरर्स एसोसिएशन (हसला) ने राज्य प्रधान दयानंद सिंह दलाल की अध्यक्षता में शहर में जोरदार प्रदर्शन करते हुए जिला उपायुक्त की प्रतिनिधि जिला राजस्व अधिकारी पूनम बब्बर के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ज्ञापन भेजा।
इस अवसर पर दयानंद सिंह दलाल ने कहा कि गत दिनों प्रदेश सरकार के शिक्षा विभाग ने कम छात्र संख्या वाले सरकारी स्कूलों से विज्ञान संकाय की पढ़ाई बंद करने का जो निर्णय लिया है, वो काफी तकलीफदेह है। उनका कहना था कि एक तरफ जहां देश भर में विज्ञान एवं तकनीक की पढ़ाई को बढ़ावा देने के लिए बहुआयामी प्रयास किए जा रहे हैं।
वहीं प्रदेश सरकार का शिक्षा विभाग कम छात्र संख्या के नाम पर गांव-देहात के उन सरकारी स्कूलों से विज्ञान संकाय को बंद करने को आमादा है, जहां विभाग की खामियों के चलते छात्र संख्या आज भी कम है। कहीं विज्ञान विषय के प्राध्यापकों के पदों का रिक्त होना तो कहीं अन्य विभागीय कारणों से उक्त छात्र संख्या कम हुई है।

जिला उपायुक्त की प्रतिनिधि जिला राजस्व अधिकारी पूनम बब्बर के माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल को ज्ञापन सौंपते हुए हसला के प्रतिनिधि।

उन्होंने कहा कि विभाग का यह नैतिक दायित्व बनता है कि संबंधित स्कूलों में छात्र संख्या बढ़ाने के लिए शिक्षकों एवं अभिभावकों के साथ एक रचनात्मक मुहिम चलाये। किंतु विभाग ने सत्र के बीच में केवल छात्र संख्या के आधार पर बिना किसी पूर्व सूचना के विज्ञान संकाय बंद करने का जो निर्णय लिया है, वह पूर्ण रूप से राज्य के भविष्य पर कुठाराघात है।
दयानंद सिंह दलाल ने कहा कि इन स्कूलों में विज्ञान संकाय के लिए भौतिकी, रसायन शास्त्र तथा जीव विज्ञान की प्रयोगशालाओं पर भारी-भरकम खर्च किया जा चुका है। इतना ही नहीं, सत्र के बीच में विज्ञान संकाय पढ़ रहे विद्यार्थियों को दूरदराज के स्कूलों में पढऩे के लिए बाध्य होना पड़ेगा या फिर विज्ञान संकाय को ही छोडऩा पड़ेगा। यह उन विद्यार्थियों एवं अभिभावकों के साथ एक धोखा है जो विज्ञान संकाय चुनकर स्वर्णिम भविष्य के सपने संजोये हुए थे।
जिलाध्यक्ष बलजीत सहारण ने कहा कि संबंधित स्कूलों में विज्ञान विषय के छात्र संख्या बढ़ाने के लिए उचित प्रयास किए जाएं ताकि प्रदेश में विज्ञान की पढ़ाई को सही मायनों में प्रोत्साहित किया जा सके तथा ट्रांसफर ड्राइव की विसंगतियों का समाधान करते हुए अति शीघ्र ट्रांसफर ड्राइव शुरू करने बारे संगठन द्वारा 14 सूत्रीय ज्ञापन जिला राजस्व अधिकारी पूनम बब्बर को सौंपा।
इस अवसर पर मुख्य रूप से जिला प्रधान बलजीत, ब्लॉक प्रधान राकेश दलाल, कलानौर प्रधान वीरेन्द्र सिंह, लाखन माजरा प्रधान दर्शन लाल, राज्य उपप्रधान सुरेन्द्र परमार, ओमप्रकाश खत्री, सतपाल मलिक, अजमेर हुड्डा, सुनील कुमार, राजीव देशवाल, जगदीप मिगलानी, सुमन, कुसुम लता, सुदेश देवी, नीरज कुमारी, मुकेश कुमारी सहित सैंकड़ों प्राध्यापक मौजूद रहे।

Close