Breaking Newsउत्तर प्रदेशदुनिया

यूपी में आंधी बारिश और आसमानी बिजली का कहर, 33 की मौत कई हुए बेघर

Spread the love

यूपी में रविवार शाम को तेज आंधी-बारिश आने के दौरान अलग-अलग जिलों में 33 लोगों की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई। कानपुर शहर के घाटमपुर क्षेत्र और फतेहपुर में सात-सात लोगों की जान चली गई। कानपुर देहात में एक किशोरी की मौत हो गई, जबकि धान की रोपाई कर रहीं चार युवतियां झुलस गईं।

कानपुर शहर के घाटमपुर तहसील क्षेत्र में रविवार दोपहर बाद बारिश संग बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आकर चार महिलाओं और तीन पुरुषों समेत सात लोगों की मौत हो गई, जबकि छह लोग गंभीर रूप से झुलस गए। बिजली की चपेट में आए लोगों में खेतों में काम कर रहे थे।

कानपुर देहात के गजनेर में बिजली गिरने से 15 साल की किशोरी की मौत हो गई, जबकि धान की रोपाई कर रहीं चार महिलाएं झुलस गईं। एक महिला की हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर, बुंदेलखंड के हमीरपुर में दोपहर तीन बजे बारिश के साथ बिजली गिरने से खेतों में काम कर रहे तीन किसानों की जान चली गई, जबकि 16 मवेशी भी चपेट में आकर मर गए।

जालौन जिले में बिजली गिरने से दो किसान, एक मजदूर और एक महिला की मौत हो गई। चित्रकूट जिले के राजापुर व पहाड़ी क्षेत्र में देर शाम बारिश के बाद अचानक बिजली गिरने से सुरवल गांव में आठ साल के बच्चे की मौत हो गई, जबकि एक बारह साल का लड़का और उसका पिता झुलस गया।

बांदा में बारिश संग बिजली गिरने से मरका थाना क्षेत्र में किसान की मौत हो गई। सेंट्रल यूपी के फतेहपुर में भी दोपहर बाद बारिश के साथ बिजली गिरने से बाबा और पौत्र समेत सात लोगों की जान चली गई, जबकि चार लोग झुलस गए। आकाशीय बिजली गिरने से झांसी में चार, हमीरपुर में तीन तथा फतेहपुर में दो व्यक्तियों की मृत्यु हो गई है।

दैवीय आपदा में मृत्यु पर गहरा शोक जताया मुख्यमंत्री ने, परिजनों को चार-चार लाख की मदद 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के विभिन्न जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से हुई 33 लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की राहत राशि तत्काल उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़े   सिवानी मंडी में बडवा के मनरेगा मजदूरों ने किया प्रर्दशन । 

Close