Breaking Newsस्वास्थ्यहिमाचल प्रदेश

अब आयुष्मान योजना में होगा दो हजार बीमारियों का इलाज, पढ़ें पूरी सूची

 

शिमला से रेखा कौशल की रिपोर्ट
आयुष्मान भारत योजना में अब 1800 के बजाय दो हजार बीमारियों का इलाज निशुल्क होगा। राज्य सरकार की ओर से केंद्र को प्रस्ताव भेजा गया है जिसमें छूटी हुई 200 बीमारियों को शामिल करने का आग्रह किया गया है। बताया जा रहा है कि दस से 15 दिनों में इन बीमारियों को योजना कवर में शामिल करने की मंजूरी मिल सकती है। आईजीएमसी में इलाज करवाने आने वाले मरीजों को कई बार योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। चर्मरोग और आंखों की कुछ बीमारियां योजना में नहीं हैं। लिहाजा मरीजों को उपचार के समय बाहर से दवाइयां खरीदनी पड़ रही हैं। अस्पताल में मरीजों को आ रही दिक्कतों के चलते अब राज्य ने योजना में छूटी बीमारियों को जोड़ने का प्रस्ताव केंद्र को भेजा है।

उपचार के दौरान ये दस्तावेज अनिवार्य
इसमें चर्मरोग, हार्ट, स्पाइन, किडनी, न्यूरोसर्जरी की ऐसी बीमारियां हैं जो योजना के लांच के समय पैकेज में शामिल नहीं हुई थीं। इन बीमारियों के शामिल होने के बाद दाखिल गरीब मरीजों को पांच लाख रुपये तक निशुल्क उपचार मिलेगा। हिमाचल पहला ऐसा राज्य होगा जहां पर दो हजार के करीब बीमारियों को योजना में कवर किया जाएगा। बता दें कि हिमाचल में सितंबर 2018 में आयुष्मान भारत योजना को लांच किया गया। प्रदेश के 175 सरकारी और निजी अस्पतालों में लोगों के लिए 1800 बीमारियों के उपचार की सुविधा दी गई। योजना का लाभ राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत चयनित बीपीएल, मनरेगा और सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण -2011 के चिह्नित गरीब परिवारों को मिल रहा है। अस्पताल में उपचाराधीन मरीज के पास राशनकार्ड, आधारकार्ड, राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड, पंजीकृत मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। इसके अलावा हिमाचल स्वास्थ्य बीमा योजना सोसायटी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से भी जानकारी ले सकते हैं।

x

COVID-19

India
Confirmed: 2,027,074Deaths: 41,585
Close