Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
हरियाणा

सुर सागर कला मंच द्वारा गाओ मेरे संग कार्यक्रम में आए लोगों ने गीत गाकर बांधा समां

बोलो तारा-रारा पंजाबी सॉन्ग पर झूमे लोग, उठाया लुत्फ

Spread the love
करनाल 20 मई (मैनपाल कश्यप / शिव कुमार)           
सुर सागर कला मंच, करनाल द्वारा गाओ मेरे संग कार्यक्रम का आयोजन हैरिटेज एंड रिसोर्ट करनाल में किया गया। कार्यक्रम में वण्डर वैली इंड़स्ट्रीयल ट्रेनिग इंस्टीच्यूट के एम.डी नरेश गुप्ता एवं हरियाणा माडर्न सी.सै. स्कूल की प्रधानाचार्या सविता सिंगला ने बतौर मुख्यातिथि के तौर पर शिरकत की। कार्यक्रम की शुरूआत हेरिटेज के एम.डी अंशुल गुप्ता ने रिबन काटकर की। वहीं कार्यक्रम में गेस्ट ऑफ ओनर द सेंचरी स्कूल घरौंड़ा के एम.डी आदित्य बंसल, जे.बी इंटरप्राइजिज के एम.डी व सरंक्षक एस.के शर्मा व के.के पासी ने दीप प्रज्जवलित किया। इस अवसर पर डा. कृष्ण अरोड़ा ने कार्यक्रम को प्रेजेंट किया। गीत-संगीत से भरे कार्यक्रम को बेहतरीन बनाने के लिए आए हुए मेहमानों ने अपनी मधुर आवाज से समां को बांधे रखा। इस अवसर पर जितेन्द्र गर्ग ने बेचैन नजर, बेताब जिगर गीत गाकर खूब तालियां बटौरी, वहीं डी.डी शर्मा ने मैं कहीं कवि न बन जाऊं गीत गाया। इसके अलावा राके पटनी ने ओ रे मांझी, रणबीर अरोड़ा ने इशारों-इशारों में, एन.एल वर्मा ने सुख के सब साथी, दुख में न कोए गीत गाया, वहीं यू.पी गुलाटी ने पंजाबी गीत बोलो तारा-रारा गीत गाकर सभी को नाचने पर मजबूर कर दिया। मदनलाल अग्रवाल ने जरा सुन हसीना-नाजनी, मि. एंड मिसेज कालरा ने छुपा के मेरी आंखो, अनीता शर्मा एंड वाई.के.शर्मा ने मेरी जां बल्ले-बल्ले, पिं्रयका व तन्नू ने अल्लाह ये कैसी अदा, गुरमीत सिंह ने दिल का आलम, चन्द्र मैहता ने मुझे दर्दे दिल का, प्रदीप भारती ने अभी मुझ में कहीं, मुकेश गुप्ता ने पल-पल दिल के पास, अशोक महिन्दु्र ने बहुत प्यार करते है, सुनीता रानी ने सुन साहिबा सुन गीत गाकर अपनी प्रस्तुति पेश की। वहीं कार्यक्रम में हेरिटेज के एम.डी अंशुल गुप्ता ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। कार्यक्रम में मुख्यातिथि नरेश कुमार गुप्ता व सविता सिंगला तथा गेस्ट ऑफ ओनर ने पुराने गीत गाकर उपस्थितजनों को मंत्रमुग्ध कर दिया। संस्था के संस्थापक जितेन्द्र गर्ग ने आए हुए सभी अतिथियों व सभी जनसमूह का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कर्ण नगरी के लोगो की तरफ से सुर सागर कला मंच को समय-समय पर स्नेह मिलता रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी को यूं ही प्यार से अपना जीवन व्यतीत करना चाहिए। हर व्यक्ति को गुनगुनाते हुए अपना समय बिताना चाहिए।

Close