Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsहिमाचल प्रदेश

मीडिया के सामने विश्वसनीयता बड़ी चुनौती : पवन आश्री

Spread the love

भारतीय पत्रकार कल्याण मंच द्वारा शिमला में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी
हिमाचल के पत्रकारों को भी दिलाई जाएगी पेंशन : शिक्षा मंत्री
लोकतांत्रिक व्यवस्था में मीडिया की भूमिका विषय पर वक्ताओं ने रखे विचार

शिमला। भारतीय पत्रकार कल्याण मंच द्वारा गत वर्षों की भांति इस बार भी शिमला में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। लोकतांत्रिक व्यवस्था में मीडिया की भूमिका विषय पर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय निवास शिमला के सभागार में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में मुख्यातिथि के तौर पर हिमाचल के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज शामिल हुए। उनके साथ राज्यपाल हिमाचल के राजनैतिक सलाहकार डॉ. शशिकांत शर्मा, भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के हिमाचल अध्यक्ष व प्रेस क्लब शिमला के अध्यक्ष अनिल भारद्वाज हेडली, भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के हिमाचल इकाई के महासचिव व प्रेस क्लब शिमला के कोषाध्यक्ष उज्जवल शर्मा, प्रेस क्लब शिमला के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पराक्रम शर्मा भी शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन आश्री ने की। कार्यक्रम में पहुंचने पर मुख्यातिथि शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज का भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन आश्री व महासचिव मेवा सिंह राणा ने स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के मुख्यातिथि शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने अध्यक्ष पवन आश्री द्वारा हरियाणा की तर्ज पर हिमाचल के पत्रकारों को भी पेंशन योजना में शामिल करवाने की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने भारतीय पत्रकार कल्याण मंच की पेंशन योजना की मांग को पूरा कर एक सराहनीय काम किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के पत्रकारों के लिए भी पेंशन योजना लागू करवाने के लिए जल्द ही मुख्यमंत्री हिमाचल से मिलेंगे और पेंशन योजना लागू करवाने के लिए प्रयास करेंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि उनका प्रयास रहेगा जल्द से जल्द हिमाचल के पत्रकारों को भी पेंशन योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाए। उन्होंने लोकतांत्रिक व्यवस्था में मीडिया की भूमिका पर बोलते हुए कहा कि बेशक मौजूदा समय में सोशल मीडिया हावी हुआ है लेकिन मुख्य धारा की मीडिया की विश्वसनीयता आज भी बरकरार है। उन्होंने कहा कि जब लोकतंत्र के तीनों स्तंभ अपने उद्देश्य एवं कर्तव्यों से विमुख होते है तो लोकतंत्र का चौथा स्तंभ एक प्रहरी के तौर पर जनता की आवाज बनकर तीनों स्तंभों को जगाने का काम करता है। मीडिया न केवल सूचनाएं देने का माध्यम है अपितु समाज एवं राष्ट्र का निर्माता भी है। उन्होंने पत्रकारों को अपनी भूमिका एवं समाज व राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों का हर परिस्थिति में जिम्मेवारी के साथ निर्वहन करने की बात कही।
भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन आश्री ने सभी मंचासीन अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि हमारे बीच ऐसे व्यक्तित्व विद्यमान है जो जनता के प्रति जवाबदेही व कर्तव्य के साथ अपने आप में एक मिसाल बन चुके है। उन्होंने कहा कि जनता के दिलों में निवास करने वाले और उनका विश्वास जितने वाले हिमाचल सरकार में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज लगातार 4 बार विधायक चुने जा चुके है। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में जहां मीडिया की भूमिका अहम होती है वही विधायिका की भूमिका भी व्यवहारिक तौर पर सबसे महत्वूपर्ण होती है क्योंंकि जनता के लिए जनता के हित में और उनके कल्याण के लिए कानूनों का निर्वाहन करना और कल्याणकारी योजनाओं को लागू करना जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि ही करते है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने जनता की भलाई के लिए जो कार्य किए है वे कार्य जनता ने उन्हें 4 बार जनादेश देकर साबित कर चुकी है। पवन आश्री ने कहा कि मंच का गठन पत्रकारों के कल्याण के लिए किया गया था और इसी उद्देश्य को लेकर मंच इसी दिशा में काम कर रहा है। ंमंच के प्रयासों से पत्रकारों के कल्याण के लिए कई योजनाएं सरकार से लागू करवाने में ही सफलता पाई है।
हिमाचल के राज्यपाल के राजनैतिक सलाहकार एवं हिमाचल विश्वविद्यालय शिमला के पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डा. शशिकांत शर्मा ने मीडिया की भूमिका पर व्याख्यान देते हुए कहा कि बेशक आज के दौर में पत्रकारिता के विविध आयाम सामने आ चुके है लेकिन मुख्य धारा की मीडिया की जवाबदेही और विश्वसनीयता आज भी बरकरार है। उन्होंने कहा कि मीडिया में कुछ अपवाद जरूर पैदा हो गए है लेकिन यह विषय पत्रकारों के आत्ममंथन और विवेक का है। उन्होंने प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रोनिक मीडिया की अपनी-अपने विशेषताओं के बारे विस्तार से चर्चा की।
मंच के हिमाचल अध्यक्ष एवं प्रेस क्लब शिमला के अध्यक्ष अनिल भारद्वाज हेडली और प्रेस क्लब शिमला के कोषाध्यक्ष उज्जवल शर्मा ने मीडिया की भूमिका के विषय में अपने विचार रखे। उनके साथ प्रेस क्लब शिमला के वरिष्ठ उपाध्यक्ष पराक्रम शर्मा ने भी संगोष्ठी में शामिल हुए सभी पत्रकारों का स्वागत किया। मंच का संचालन केवल कृष्ण द्वारा बाखूबी किया गया और कार्यक्रम की सफलता में मुख्य रुप से मंच के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी संजीव बंसल का महत्वपूर्ण सहयोग रहा।
शिमला में आयोजित इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में शिमला से पत्रकार रमेश चंद्र, धर्मेंद्र कुमार, रमन कुमार, कमल, राजू ठाकुर, क्रांति भूषण, राजेंद्र काली, कल्याण, योगराज शर्मा एवं हरियाणा से संजीव बंसल कुरुक्षेत्र, अभिषेक पूर्णिमा, अनिल बागड़ी, नरेश वधवा, जसपाल गिल, संजीव बंसल, मनमोहन शर्मा, डॉ. केवल कृष्ण, हर्ष शर्मा, सोहन, अनिल, प्रवीण कौशिक, संजय गर्ग, अजय मेहरा, मुकेश बंसल, नीतू गोयल, सत्येंद्र कुमार, के दीप गोयल, बलदेव बरेटा, जितेंद्र तूर, दलबीर जाखल, प्रवीण जग्गा, विवेक डोलिया, करण बूटी, संजीव राणा, गुलजार सिंह रोहटी, कुलवंत राय, कृष्ण प्रजापति आदि को सम्मानित किया गया।
बॉक्स
उज्जवल शर्मा को भारतीय पत्रकार कल्याण मंच हिमाचल प्रदेश का महासचिव नियुक्त किया
भारतीय पत्रकार कल्याण मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन आश्री ने शिमला में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी के अवसर पर प्रेस क्लब शिमला के कोषाध्यक्ष उज्जवल शर्मा को हिमाचल का महासचिव नियुक्त किया। उज्जवल शर्मा ने कहा कि भारतीय पत्रकार कल्याण मंच द्वारा उन्हें हिमाचल का महासचिव नियुक्त किया गया है। इस जिम्मेवारी को पूरी कर्मठता के साथ निभाएंगे और हिमाचल प्रदेश के पत्रकारों के कल्याण के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। उन्होंने अपनी नियुक्ति पर राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन आश्री का आभार जताया।

 

Close