Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
दुनियासख्सियत

सादगी जीवटता की मिसाल बंजारा समुदाय की पहली जिला कलेक्टर शोभा राठौड़

Spread the love

शोभा राठौड़ है यह …
आदिवासी बंजारा समुदाय से आती है …
बड़ी बात यह है कि अपने समुदाय की पहली जिला कलेक्टर बनी है …रांची झारखंड में…
आप कितने भी आधुनिकता को ओढ़ ले … लेकिन हमारी महान परम्पराओं के सामने सब फीके है …
बेहद शालीन लेकिन आत्मविश्वास से लबरेज़ इस महिला को हमारा सलाम … जोहार …
आज इन्होंने उन सभी अफसरों को बोना साबित कर दिया जो आते ही सबसे पहले अपनी ही कौम के लोगों पर रौब जाड़ते है … उन्हें अचानक से गांव , कबीले के लोग गवांर नजर आने लगते है … अजय गोदारा

ये महान से भी भी महान है / जिला कलेक्टर है , नाम है शोभा राठोड –बंजारा समुदाय की है –मे इस महाँन हस्ती को सर झुकाता हूँ —–ये अपनी ड्रेस में सीधा सन्देश दे रही है की— मे भारत के गरीब लोगो की हूँ , —-उनके लिए हूँ ,—- उनसे ही पैदा हुई , —-उनहोने ही पाली थी/ — हर समय इसके सामने अपना देश होगा —-अपने ही लोग होंगे —-भारत ही असली वो है जो गाम में रहता है —-वो इसके तन पर दिखाई दे रहा है –इसके मन में रहेगा —-धरती की बेटी है ये /
जिनको अंग्रेज अपने जैसे बना क्रर छोड़ गए ,— जो अपने को आधुनिक कहते है —-उनमे वो हर चीज है जो गोरे फिरिगी में थी —-श्रेसठता , अहंकार , –बद्दाईखोर ,– पैसे बनाने की मशीन ,– गैरजिम्मेवार ,– गाम के आदमी को मुर्ख समझने वाले /
———————————मेने भी एक ऐसा ही लडका पढाया था जो IAS में उच्चे दर्जे में आया था –उसे कूट कूट कर भारतीय बनाया था –मेरा सबसे प्यारा बच्चा था वो / मे बेहद शक्त हू , पर इस लडके को कभी धमकाया भी नही –बहुत सादा था पर दिमाग में शानदार , इंसानियत मे शानदार —पर इस दुनीया से ही चला गया —
मे फिर से शोभा राठोड को सलाम करता हूँ और ये भी उम्मीद करता हूँ की आपका ये फोटो कई औरो को भी आदमी बनने का संदेश देगा /जाट इतिहासकार कृष्णचन्द्र दहिया जी….

Related Articles

Close