Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsसभी खबरेंहरियाणाहिमाचल प्रदेश

भारतीय नवसंवत महान व पावन दिवस है – संजय सिंगला

जो हमारे मन मे नई प्रेरणा उत्पन्न कर अपने राष्ट्र के स्वाभिमान और शौर्य परंपराओं का स्मरण करवाता है।

Spread the love

फोटो : हवन यज्ञ मे भाग लेते विधायक भगवान दास कबीरपंथी व परिषद के प्रधान संजय सिंगला, मैंबर

भारतीय नवसंवत महान व पावन दिवस है – संजय सिंगला
पावन दिवस है जो हमारे मन मे नई प्रेरणा उत्पन्न कर अपने राष्ट्र के स्वाभिमान और शौर्य परंपराओं का स्मरण करवाता है।
तरावड़ी 6 अप्रैल (राजकुमार खुराना)
भारत विकास परिषद शाखा तरावड़ी की ओर से नव संवत 2076 का कार्यक्रम नई अनाज मंडी में बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस कार्यक्रम मे मुख्यअतिथि के रूप हल्का विधायक भगवान दास कबीरपंथी ने की। भारत विकास परिषद की ओर से नूतन नवसंवत के अपलक्ष्य मे नई अनाज मंडी में शहर की सुख समृद्धि के लिए पडि़त कृष्णपाल शर्मा ने परिषद के प्रधान संजय सिंगला व मैंबरों सहित हवन यज्ञ करवा कर पूर्ण आहूति डलवाई तथ्पश्चात प्रसाद वितरण किया गया। परिषद के प्रधान संजय सिंगला एवं सचिव राकेश हंस ने बताया कि हिन्दू सस्कृति के अनुसार नववर्ष चैत्र शुक्ल एक से नवसंवत शुरू होता है। भारतीय नवसंवत् ऐसा महान एवं पावन दिवस है जो हमारे मन मे नई प्रेरणा उत्पन्न कर अपने राष्ट्र के स्वाभिमान और शौर्य परंपराओं का स्मरण करवाता है। उन्होंने बताया कि नव संवत 2076 के उपलक्ष्य में परिषद की ओर से शहर वासियों को शुभकामनाओं के लिये पोस्टर व शहर में बैनर भी लगवाए गए हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि नव संवत के उपलक्ष्य में रात्रि अपने घरों पर रंगोली व दीप प्रज्वलित करके नववर्ष के आगमन का उत्सव मनाए। इस अवसर पर परिषद के संरक्षक व नपा उपाध्यक्ष पंकज गोयल, बृजमोहन गर्ग, कोषाध्यक्ष योगेश मिडडा, अमित जैन,पूर्व प्रधान मनोज चौधरी, नरेश बंसल, सुल्तान सिंह सोल्हों, जय प्रकाश भारद्वाज, डा. प्रवीन गुप्ता,मंडी प्रधान राधेश्याम गर्ग, राकेश गर्ग,ऐसोसिएशन प्रधान शीशपाल गुप्ता, सुरेन्द्र बंसल, नरेश शर्मा, रामनिवास बंसल,विनोद गोयल,मुकेश गर्ग,चौधरी शेखर, अनिल सिंगला, संजय आन्नद,यशपाल शर्मा, महेश गोयल, रणजीत भारद्वाज व सभा के सभी मेंबर, मंडी के आढ़ती मौजूद थे।

Related Articles

Close