Breaking Newsजम्मू और कश्मीरदुनियास्थानीय खबरें

Big Breaking: जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (मलिक गुट) गैरकनुनी संगठन घोषित

नई दिल्ली: 

केंद्र सरकार ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक (Yasin Malik) की जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) पर प्रतिबंध लगा दिया है. अधिकारियों ने बताया कि केंद्र सरकार ने यासीन मलिक (Yasin Malik  News) की जेकेएलएफ को आतंक विरोधी कानून के तहत बैन किया है. केंद्र सरकार का यह फैसलाअलगाववादियों पर बड़ी कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है. केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा ने बताया कि संगठन को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित किया गया है. इसके प्रमुख यासीन मलिक गिरफ्तार हैं और फिलहाल वह जम्मू की कोट बलवल जेल में बंद हैं. यह जम्मू-कश्मीर में दूसरा संगठन है, जिसे इस महीने प्रतिबंधित किया गया है. इससे पहले, केंद्र ने जमात-ए-इस्लामी जम्मू-कश्मीर पर प्रतिबंध लगा दिया था.

जमात-ए-इस्लामी जम्मू-कश्मीर पर देश में राष्ट्र विरोधी और विध्वंसकारी गतिविधियों में शामिल होने और आतंकवादी संगठनों के साथ संपर्क में होने का आरोप था. जमात-ए-इस्लामी जम्मू-कश्मीर पर बैन लगाने के बाद सरकार ने बडी़ कार्रवाई की है और उनके नेताओं के कई घरों, दफ्तरों और संपत्तियों को सील कर दिया है.

बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने बुधवार को 18 अलगाववादियों और 155 नेताओं का सुरक्षा कवर हटा दिया था. इनमें पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के करीबी वाहिद मुफ्ती और पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल भी शामिल थे.

x

COVID-19

India
Confirmed: 2,027,074Deaths: 41,585
Close