Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
हरियाणा

केंद्र की नौकरियों में किया जा रहा है भेदभाव : राजकुमार सैनी

दलितों व दबे-कुचले वर्ग को सम्मान दिलाने की लड़ रहे हैं लड़ाई ।

Spread the love
54 Views
शिवचरण  / संजीव राणा
 
कुरूक्षेत्र । सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि वे दलितों व दबे-कुचले वर्ग को सम्मान  दिलाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। जब वे उन्होंने इस लड़ाई को शुरू किया है, तब से इस वर्ग का भी मनोबल बढ़ा है।  केवल जाति विशेष द्वारा दलितों व दबे-कुचले वर्ग को और दबाने की कोशिश की जाती है। दलितों को निर्धारित आरक्षण में भी नौकरी नहीं मिल रही है। खास कर केंद्र की नौकरियों में भेदभाव किया जा रहा है। देश के 40 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर व एसोसिएट प्रोफेसर के पदों में नाममात्र की ही नौकरियां हैं। यह खुलासा यूजीसी से मांगी गई आरटीआई में हुआ है।
वे गुरुवार को अपने सेक्टर-3 स्थित आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।  सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि सम्मान की जो लड़ाई उन्होंने शुरू की है, उसे अब अंजाम तक पहुंचाने का समय आ गया है। चुनाव में जनता का सहयोग इस लड़ाई को नई मुहिम देगा। 40 केंद्रीय विश्वविद्यालयों के सहायक व एसोसिएट प्रोफेसर के करीब 11 हजार पद हैं, इनमें पिछड़ा वर्ग का प्रतिनिधित्व मात्र 7 प्रतिशत है।। इसके साथ ही रेलवे की श्रेणी ए व बी में भी पिछड़ा वर्ग का प्रतिनिधित्व मात्र 7 से 8 प्रतिशत ही है। भाजपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में सबका साथ-सबका विकास का रोजगार में यह सबसे बड़ा उदाहरण है। 
हर गांव में किया समस्याओं का समाधान  सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि उन्होंन कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के हर गांव में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान किया। करीब 20 करोड़ की ग्रांट पिछले पांच साल में क्षेत्र के विकास को लेकर जारी की गई है। पांच साल का कार्यकाल खत्म होने पर उनकी सांसद निधि की एक भी ग्रांट पेडिंग नहीं है। पांच साल के कार्यकाल में 20 से अधिक रेलवे फाटकों पर अंडर ब्रिज व ओवर ब्रिजों को मंजूर कराने के साथ निर्माण भी कराया है।  कैथल-नरवाना रेलवे लाइन विद्युतिकरण की पुरानी मांग को मंजूर कराया। पूरे लोकसभा क्षेत्र में 100 से ज्यादा कैंसर रोगियों को इलाज कराने के साथ प्रधानमंत्री राहत कोष से आर्थिक सहायता दिलाई। 
_______________________________
धर्मनगरी को कृष्णा सर्किट में कराया गया शामिल
सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि उनके अथक प्रयासों से धर्मनगरी  कृष्णा सर्किट में शामिल हुई। पर्यटन की दृष्टि से हवाई पट्टी बनाने की मांग भी प्रधानमंत्री के समक्ष रखी गई। कृष्णा सर्किट के तहत आज धर्मनगरी कुरुक्षेत्र के तीर्थों का स्वरूप पूरी तरह बदला चुका है। 200 करोड़ की ग्रांट से तीर्थों का जीर्णोद्धार किया जा रहा है।

Related Articles

Close