Breaking Newsउत्तराखंड

 सोमवती, मौनी अमावस्या पर सोमवार को लगेगी पुण्य की डुबकी

श्रवण नक्षत्र में बना सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग

कुंभनगर। प्रयागराज के कुंभपर्व के दूसरे शाही, मौनी अमावस्या स्नानपर्व पर सोमवार को पुण्य की डुबकी का अद्भुत योग बना है। अमावस्या तिथि का संचरण रविवार को दिन में 11.12 बजे से ही हो गया था और यह तिथि चार फरवरी को दिन में 1.12 बजे तक रहेगी। हालांकि, ज्योतिषीय परंपरा के मुताबिक उदयातिथि के अनुसार सोमवार को ही मौनी अमावस्या का मुख्य स्नानपर्व रहेगा। स्नानपर्व ब्रह्ममुहूर्त से ही शुरू हो गया।
मौनी अमावस्या के कारण पर्व पर मौन रहकर स्नान करना विशेष पुण्यदायी तो है ही, सोमवार को अमावस्या पड़ने से यह पुण्य दोगुना हो गया है। मौनी, सोमवती अमावस्या पर प्रयाग क्षेत्र में संगम सहित गंगा और यमुना के विभिन्न घाटों पर डुबकी लगाना पुण्यदायी है। वहीं डुबकी के साथ ही यथाशक्ति दान एवं पितरों के निमित्त श्राद्ध भी विशिष्ट फलदायी है। ज्योतिर्विद पं.दिवाकर त्रिपाठी ‘पूर्वांचली’ के मुताबिक रविवार की रात में 2.27 बजे से 4.57 बजे तक श्रवण नक्षत्र रहा किंतु अमावस्याव्यापी होने के कारण मौनी, सोमवती अमावस्या पर बना सर्वार्थ अमृत सिद्धि योग सर्वप्रकार से अमृतफलदायी होगा। पुण्यपर्व का यह संयोग अरसे बाद बना है।

x

COVID-19

India
Confirmed: 767,296Deaths: 20,642
Close