Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsक्राइमहरियाणा

पत्रकार हत्याकांड में राम रहीम दोषी क़रार,17 जनवरी को होगा सजा का ऐलान

Spread the love

 

पंचकुला-पत्रकार रामचंद्र छत्रपति मर्डर मामले में बड़ा फ़ैसला,डेरा प्रमुख राम रहीम सहित चारों आरोपी दोषी क़रार,पंचकुला की CBI अदालत ने सुनाया फ़ैसला,17 जनवरी को होगा सज़ा का एलान

 

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में पंचकूला अदालत ने फैसला सुना दिया है। इस मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम आरोपी था जिसे कोर्ट ने दोषी माना है। राम रहीम इस समय अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है। फैसले को देखते हुए हरियाणा और पंजाब के कई क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पंचकूला में सीबीआई कोर्ट ने मामले में राम रहीम समेत सभी 4 को दोषी करार दिया है।सजा 17 जनवरी को सुनाई जाएगी।

हरियाणा में, विशेषकर पंचकूला, सिरसा (डेरा मुख्यालय) और रोहतक जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। यहां कानून व्यवस्था से जुड़ी किसी भी स्थिति से निपटने के लिये राज्य सशस्त्र पुलिस की कई कंपनियों, दंगा विरोधी पुलिस और कमांडो बल को तैनात किया जा रहा है।

पंचकूला के डीसीपी कमलदीप गोयल ने सीबीआई की विशेष अदालत के निकट सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कहा, ‘भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। कोर्ट परिसर के आसपास लगभग 500 कर्मी तैनात किए गए हैं। बैरिकेडिंग भी की गई है।’

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम पर फैसला आने के चलते सुरक्षा इंतजामों के बारे में बात करते हुए रोहतक रेंज के आईजी संदीप खीरवार ने बताया, ‘हमने जेल के आसपास 2 टियर में सुरक्षा के इंतेजाम किए हैं, 500 जवान और हवाई ड्रोन भी लगाए गए हैं। हम किसी तरह की भीड़ नहीं जुटने देंगे और लोगों से अपील की है कि वे भी शांति बनाए रखें।’

हरियाणा के सभी जिलों की पुलिस को लोगों को गैरजरूरी रूप से जमा होने से रोकने और अतिरिक्त निगरानी रखने के निर्देश दिये गए हैं। उन्होंने कहा कि कई इलाकों में नाकेबंदी भी की गई है।पुलिस ने कहा कि सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय के नजदीक अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

अगस्त 2017 में राम रहीम को सजा सुनाए जाने के दौरान हरियाणा के सिरसा और पंचकूला में हिंसा भड़क गई थी, जिसमें 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे।

Close