Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
मध्य प्रदेशस्थानीय खबरें

प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री श्रेयस्कर चौधरी उत्कृष्ट युवा उद्यमी पुरस्कार से सम्मानित

Spread the love
26 Views

मध्यप्रदेश, जनवरी 2019 रू नई दिल्ली में आयोजित एक पुरस्कार समारोह में प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक, श्री श्रेयस्कर चैधरी को वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा वस्त्र क्षेत्र के उत्कृष्ट युवा उद्यमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। श्री चैधरी को यह पुरस्कार गारमेंट्स और मेड अप्स् श्रेणी में दिया गया है। उन्हें उत्पाद और प्रक्रिया से सम्बंधित नवाचार, सस्टेनेबिलिटी के लिए ली गई पहल और मार्केटिंग और ब्रांडिंग से सम्बंधित नवाचार के क्षेत्र में उनकी पहल के लिए सम्मानित किया गया। कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी प्रोजेक्ट्स के लिए सदा उत्साही रहने वाले श्री चैधरी यूएमआईएसटी, मैनचेस्टर से टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी में स्नातक हैं।
उत्कृष्ट ब्रांड सी एंड ए फाउण्डेशन के सहयोग से, श्री चैधरी ने सर्कुलर फैशन की दिशा में योगदान करते हुए प्रमाणित सी2सी (क्रैडल से लेकर क्रैडल तक के कॉन्सेप्ट के साथ) वस्त्रों की स्थापना की। उन्होंने व्यावसायिक व्य्ावहारों में महत्वपूर्ण नवाचार शुरू किये, जहां अधिकांश कच्चे माल टिकाऊ होते हैं, जिसमें टिकाऊ कपास, पुनर्नवीकृत पॉलिएस्टर, स्पन से रंगे विस्कस, लिनन, टेंसेल आदि शामिल हैं। उनके नेतृत्व में, प्रतिभा सिंटेक्स ने अपने मुख्य प्लांट के लिए हिग्ग इंडेक्स पैरामीटर में 90 प्रतिशत सस्टेलनेबिलिटी स्कोर हासिल किया। सस्टेनेबल अपैरल कोलिशन द्वारा विकसित किया गया हिग्ग इंडेक्स एक टूल है जो किसी कंपनी या उत्पाद की सस्टेनेबिलिटी के परफॉरमेंस को स्टीक मापने और स्कोर करने में सक्षम है। श्री चैधरी ने कंपनी को ष्रिस्पॉन्सिबल टेक्सटाइल से अधिकष् के रूप में देखा है और प्रोत्साहित किया है, जो सतत विकास लक्ष्यों के प्रति वचनबद्ध है।
‘पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने और सामाजिक प्रभाव को अधिकतम करने के आदर्श वाक्य के साथ, श्री चैधरी ने 100 प्रतिशत अपशिष्ट जल के पुनर्नवीकरण और उसके 95 प्रतिशत के पुनरू उपयोग को सुनिश्चित किया है। विभिन्न प्रक्रियाओं से निकले कचरे के लगभग 90 प्रतिशत का पुनर्नवीकरण या पुनरू उपयोग किया जाता है। कपास के कचरे को स्टेशनरी की वस्तुओं में बदल दिया जाता है, जिसका कंपनी के अंदर उपयोग किया जाता है।
प्रतिभा सिंटेक्स में अपनाई गई प्रक्रियाओं पर टिप्पणी करते हुए, श्री चैधरी ने कहा कि “हमने अपनी ऊर्जा उपयोग के 30 प्रतिशत हिस्से के लिए नवीकरणीय ऊर्जा के माध्यम से आने वाली उर्जा का उपयोग करना सुनिश्चित किया है। बायोमास ब्रिकेट बॉयलर की स्थापना और 3 लाख वृक्षारोपण से जीएचजी उत्सर्जन में महत्वपूर्ण कमी आयी है।”
श्री चैधरी ने कहा कि ष्लोगों से प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड का गहरा लगाव है, और हमने झुग्गी बस्तियों में रहने वाली महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए ष्मेरे सपनों का भारतष् के नाम से एक पहल की शुरुआत की है। हमारी एक अन्य पहल, ज्ञान पीठ, स्थानीय समुदायों के कौशल का विकास करती है और

उन्हें रोजगार प्रदान करती है। अब तक 5000 से अधिक लोग यार्न कताई और परिधान निर्माण में प्रशिक्षित हो चुके हैं। हमने विशेषज्ञ डॉक्टरों और परामर्शदाताओं की देखरेख में नियमित स्वास्थ्य जांच शिविर लगाने के अलावा, सहयोगियों और कर्मचारियों के अपने घर के सपने को पूरा करने के लिए ब्याज-मुक्त आवास योजना की घोषणा की है। कर्मचारियों और सहयोगियों के बच्चों की शिक्षा में सहयोग देने के उद्देश्य से, एक छात्रवृत्ति कार्यक्रम शुरू किया गया है।”

Related Articles

Close