Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
स्थानीय खबरेंहरियाणा

बुजुर्गों ने कहा: अगर यही है भाजपा सरकार का मान-सम्मान तो हमें नहीं चाहिए?

पिछले 3 माह से पैंशन ने मिलने के कारण बुजुर्गों ने किया जमकर प्रदर्शन

Spread the love
103 Views

छलकती आंखों से बुजुर्गों ने पूछा एक ही सवाल: आखिर हमारी पैंशन कब मिलेगी बाबूजी?

पेंशन न मिलना प्रशासन द्वारा भाजपा सरकार की नीतियों को लगाना है पलिता

सतनाली मंडी (प्रिंस लांबा)। क्षेत्र के गांव बारड़ा के बुजुर्गों ने 3 माह से बुढ़ापा पैंशन न मिलने पर मंगलवार को सरकार व प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन। सतनाली क्षेत्र के बारड़ा गांव में पिछले लगभग 3 माह से बुढ़ापा पैंशन न मिलने के कारण बुजुर्गों का गुस्सा फूट पड़ा तथा मंगलवार को उन्होंने सरकार व विभाग के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया।

 

गांव के बुजुर्ग रत्नलाल, भगवानाराम, छोटूराम, दयाकिशन, ईश्वर, चंदूराम, गुलजारी, राजेंद्र, बिरमती देवी, पताशी, ग्यारसी, छन्नी आदि ने विभागिय अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 3 महीने की बुढ़ापा, विधवा व विकलांगता पैंशन नहीं मिल रही जिसके कारण उन्हें भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जब इस बारे में गांव स्थित डाकघर में जाकर पूछते हैं तो वहां सिर्फ यही जवाब मिलता है कि विभाग में तकनीकी कार्य चल रहा है जिससे पैंशन मिलने में देरी हो रही है। बुजुर्गों ने सरकार व प्रशासन पर रोष प्रकट करते हुए कहा कि यह पैंशन बुजुर्गों के मान-सम्मान के लिए दी जाती है ताकि वे अपना गुजर-बसर सही तरीके से कर सकें परंतु भाजपा सरकार एक तरफ तो बुजुर्गों के सम्मान की बात करती है वहीं दूसरी ओर एक-एक पाई के लिए बुजुर्गों को दर-दर भटकने को मजबूर होना पड़ रहा है। क्या यही मान-सम्मान है भाजपा सरकार का? अगर बाबूजी यही सम्मान है सरकार का तो हमें नहीं चाहिए?

 

बुजुर्गों ने छलछलाई आंखों को पोंछते हुए कहा कि पैंशन न मिलने के कारण उन्हें अपना घर खर्च, दवाई आदि में भारी परेशानी हो रही है। उन्होंने कहा कि एक ओर ठिठुरती ठंड तो दूसरी ओर तीन माह से पेंशन न मिलना प्रशासन द्वारा भाजपा सरकार की नीतियों का पलिता लगाना है।

 

विभाग द्वारा तो बैंकों व डाकघरों में पैंशन भेज दी गई है और बैंकों के द्वारा भी बुजुर्गों को उनकी पैंशन दे दी गई है। डाघघरों में ऑनलाईन प्रोसेसिंग का कुछ कार्य चल रहा है जिस वजह से पैंशन में देरी हो रही है। जल्द ही बुजुर्गों को उनकी पैंशन मिल जाएगी।

                                     -समाज कल्याण विभाग अधिकारी अमित शर्मा

Related Articles

Close