Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsराजनीतीहरियाणा

मोदी की मलोट रैली का सिरसा व हिसार डिपो का घाटा 8 लाख 86 हज़ार रुपए

Spread the love
54 Views

राजेन्द्र कुमार
सिरसा,6 दिसम्बर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब के मलोट शहर में 11 जुलाई को हुई रैली में हरियाणा के सिरसा डीपो को जहां  455950 रुपए घाटा हुआ है तो वही हिसार आगार को 436577 रुपए घाटा हुआ है । जिसका खुलासा  ऐलनाबाद की सामाजिक संस्था सूचना का अधिकार जागृति मंच के अध्यक्ष एडवोकेट सुरेन्द्र सरदाना दुवारा मांगी गई जानकारी से हुआ है .
बता दें कि 11 जुलाई 2018 को पंजाब के मलोट में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक रैली हुई थी जिस के लिए हरियाणा में से भी लोगो ने शिरकत की थी । इसी कड़ी में रैली में लोगो को ले जाने के लिए हरियाणा रोडवेज के सिरसा फतहाबाद व हिसार आगार की सरकारी बसे गई थी। इस कि जानकारी एडवोकेट सरदाना ने सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के अंडर सेक्शन 6 (1)के तहत जन सूचना अधिकारी सिरसा, फतहाबाद व हिसार से मांगी । उन्होंने  चार बिन्दुओ में अपनी सूचना मांगते हुए पूछा कि 11 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब के मलोट में हुई रैली के लिए क्रमशः सिरसा ,फतहाबाद व हिसार डिपू की  कुल कितनी  सरकारी बसे इस रैली के लिए गई तथा यह बसे  कौन से प्रशाशनिक अधिकारी की अनुमति से गई। .इस के साथ मे उन्होंने पूछा कि   उपरोक्त सभी डीपो की 10 जुलाई को कुल कितनी आय हुई और 11 जुलाई को कुल कितनी आय हुई ।
तो प्रत्येक जन सूचना अधिकारी ने इस कि की अलग अलग सूचना इस प्रकार दी कि सिरसा डीपो की 10 जुलाई को 1474099 रुपए आय हुई व 11 जुलाई को 1035522 रुपये आय हुई इस प्रकार सिरसा डीपो का एक दिन का 436577 रुपये घाटा हुआ और सिरसा आगार की 49 बसे जिला उपायुक्त के मौखिक आदेश पर मोदी की रेली में गई ।
हिसार के जनसूचना अधिकारी ने सूचना में बताया कि हिसार डिपो की 10 जुलाई की आय 1977087 रुपये हुई और 11 जुलाई को 1521137 रुपये आय हुई इस प्रकार हिसार डीपो का एक दिन का घाटा 455950 रुपये रहा। हिसार डीपो की  यह बसे कौन से प्रशाशनिक अधिकारी दुवारा दी गई  व कितनी बसे मलोट गई के जवाब में उन्होंने बताया कि ऐसा पूछा जाना तर्कसंगत नही है ।
इसी प्रकार फतेहाबाद डिपो के जनसूचना अधिकारी ने बताया कि 11 जुलाई को मलोट रैली में इस आगार की कुल 46 बसे राज्य मंत्री कृष्ण बेदी के मौखिक आदेश पर गई और आगार का प्रतिदिन का  आय व्यय का ब्यौरा नही रखा जाता इस लिए आप को इस के बारे में कुछ नही बताया जा सकता .
अब यह देखना बाकी है कि इस रैली का विभाग को हुआ घाटा कौन से विभाग के जिम्मे किया जाता है या यह घाटा हरियाणा रोडवेज के खाता में ही डाला जाता है।

Related Articles

Close