Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsक्राइमराजस्थान

क़र्ज़ में डूबे पति ने डकैती साबित करने के लिए कर दी पत्नी की हत्या

Spread the love
52 Views
  • पुत्र को भी मारना चाहता था
  • भाजपा नेता की भाभी की हत्या का खुलासा
  • कर्ज से परेशान होकर उठाया कदम

जोधपुर। करीब एक सप्ताह पूर्व बनाड़ थाना क्षेत्र में हुई भाजपा नेता की भाभी की हत्या का महानगर पुलिस ने खुलासा कर दिया है। उसकी भाभी की हत्या उसके भाई ने ही की थी। पत्नी की हत्या के बाद वह अपने पुत्र को भी मारना चाहता था। इस हमले में उसका पुत्र गंभीर घायल हो गया जिसका इलाज चल रहा है। उसने अपने पिता के खिलाफ बयान दिए है जिसके आधार पर पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया है। बताया गया है कि उसने भारी कर्ज हो जाने के कारण यह कदम उठाया था। वह लूट की वारदात का हवाला देकर देनदारों से पीछा छुड़ाना चाहता था।
पुलिस उपायुक्त (पूर्व) डॉ. अमनदीपसिंह कपूर ने बताया कि भाजपा के रातानाडा मंडल अध्यक्ष जेठूसिंह ने रिपोर्ट दी थी कि उसके बड़े भाई गजेंद्रसिंह (42) पुत्र किशनसिंह बनाड़ के नांदड़ा खुर्द स्थित संगम विहार में परिवार सहित रहते है। गत 27 नवंबर को तड़के करीब सवा चार से साढ़े चार बजे के बीच अज्ञात लोगों ने घर का दरवाजा खटखटाया। तब नींद से उठे गजेंद्रसिंह ने दरवाजा खोला। तब उनके सामने तीन-चार नकाबपोश लोग खड़े थे। वह कुछ समझ पाते उससे पहले ही वे लोग जबरन घर में घुसने लगे। तब उसकी पत्नी सूरज कंवर के रोकने पर उन्होंने हथियार संभवत: से चाकू से उसका गला रेत दिया। गला पूरी तरह कट गया। चाकू का गहरा घाव गजेंद्रसिंह के गले पर भी लगा। उनका पुत्र भी हमले में घायल हो गया। इसके बाद लुटेरों ने घर में जो हाथ लगा लेकर चलते बने। बताया गया है कि पुलिस को इसकी जानकारी सुबह पांच से सवा पांच बजे के आस पास हुई। तब बनाड़ थाना प्रभारी प्रहलादङ्क्षसह आदि वहां पहुंचे। जघन्य हत्याकांड व लूट की जानकारी पुलिस के आलाधिकारियों तक पहुंचाई गई। उसके बाद पुलिस ने आगे की कार्रवाई की।

गहने घर में ही मिले, बयानों में अंतर
इस हत्या की जांच के दौरान पुलिस को कुछ अहम सुराग हाथ लगे। पड़ौसियों और घायल पिता-पुत्र के बयानों में अंतर आने पर मामला संदिग्ध बन गया। संदेह की सुई घायल गजेंद्रसिंह पर जाकर टिकी। इस हत्याकांड के बाद दर्ज रिपोर्ट में पहले घर से 10-15 लाख रुपए के गहने गायब होना बताया गया लेकिन बाद में यह मिल गए। इसके बाद रुपयों के लूट की बात भी सामने आई लेकिन रुपए भी घर में नहीं थे। इसके साथ ही हत्याकांड में सब्जी काटने के तीन चाकुआेें का प्रयुक्त होना सामने आया था और एक देशी कट्टे की बात आई थी। जो संभवत: घर की छत से फेंका जाना प्रतीत हुआ। पुलिस इसे भी संदेह की दृष्टि से देख रही थी।
पुत्र ने दिए पिता के खिलाफ बयान
घायल पुत्र कुशालसिंह ने न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष अपने धारा 164 के बयानों में पिता गजेंद्रसिंह पर ही चाकू से हमला करना बताया। उसने बताया कि उसके पिता ने ही माता का कत्ल किया था और उसे भी मारना चाहा था। इसके बाद उसने अपने पिता के कहने पर ही परिजनों व अन्य लोगों को अज्ञात लुटेरों द्वारा लूट व हमले की बात कही थी। बाद में घायल कुशालसिंह ने यह बात अन्य परिजनों को भी बताई।
हत्या का आरोपी रह चुका है पिता
जांच में पता चला है कि गजेंद्रसिंह हत्या का आरोपी रह चुका है। उसे जम्मू कश्मीर में एक युवती की हत्या के संबंध में वहां की पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था। इस संबंध में भी अनुसंधान किया जा रहा है। इसके अलावा वह वीसी का संचालन करता था। इसमें भी उसने हेराफेरी की थी। उसके सिर पर भारी कर्जा था जिससे वह परेशान हो गया था। इसी वजह से उसने अपनी पत्नी को मारकर पुत्र को मारने की कोशिश की। इसके बाद उसने खुद को भी जख्मी किया जिससे उस पर किसी को संदेह नहीं हो। हालांकि वह अभी घायलावस्था में है और उससे विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है। उसके ठीक होने पर मामले का पूरा खुलासा हो पाएगा।

Related Articles

Close