Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsदुनियामहाराष्ट्र

गौमांस के कारोबार से जुड़े हैं भारत रत्न अवार्डी बाबा आम्टे के पुत्र प्रकाश आम्टे

अमिताभ बच्चन द्वारा कौन बनेगा करोडपति (KBC) कार्यक्रम में किया प्रकाश आम्टे को सम्मान

Spread the love
84 Views
  • महाराष्ट्र राज्य केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा इसे बाकायदा दी गई है मान्यता

  • गौमांस के इस कारोबार के करता-धर्ता भारत रत्न अवार्डी बाबा आम्टे के पुत्र प्रकाश आम्टे हैं जो महाराष्ट्र के जिला गडचिरोली के गाँव हमालकसा में “आम्टे एनिमल आर्क” नाम का संस्थान चलाते हैं।
  • अमिताभ बच्चन द्वारा 7 सितंबर 2018 को कौन बनेगा करोडपति (KBC) कार्यक्रम में प्रकाश आम्टे को सम्मान दिया जा चूका है। सवाल उठता हैं कि गौमांस के कारोबार से जुड़े किसी भी व्यक्ति को अमिताभ बच्चन द्वारा सम्मानित करने से पहले कोई संबंधित व्यक्ति के बारे में पूरी तरह जांच परख की जाती है या नहीं ? यहाँ ये भी सवाल उठता है कि KBC के माध्यम से ऐसे लोगों को सम्मनित करना और आर्थिक मदद करना उचित है !

नरेश कादियान

 

महाराष्ट्र में गौहत्या पूर्णतया प्रतिबंधित फिर भी धड्ड्ले से जारी है गौमांस (बीफ) का कारोबार
महाराष्ट्र राज्य केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा इसे बाकायदा दी गई है मान्यता
नरेश कादियान ने बीफ कारोबारियों के खिलाफ शिकायत की और सख्त करवाई को कहा
महाराष्ट्र में गाय हत्या पूर्णतया प्रतिबंधित होने के बावजूद सरकार की छत्र छाया में गाय का मीट (बीफ) का कारोबार धड्ड्ले के साथ चल रहा है। गौमांस के इस कारोबार के करता-धर्ता भारत रत्न अवार्डी बाबा आम्टे के पुत्र प्रकाश आम्टे हैं जो महाराष्ट्र के जिला गडचिरोली के गाँव हमालकसा में “आम्टे एनिमल आर्क” नाम का संस्थान चलाते हैं।

कौन बनेगा करोडपति (KBC) कार्यक्रम में प्रकाश आम्टे को सम्मान दिया

यहाँ एक और बात वीवर्स के ध्यान में लाना चाहेंगे की अमिताभ बच्चन द्वारा 7 सितंबर 2018 को कौन बनेगा करोडपति (KBC) कार्यक्रम में प्रकाश आम्टे को सम्मान दिया जा चूका हैं। सवाल उठता हैं कि गौमांस के कारोबार से जुड़े किसी भी व्यक्ति को अमिताभ बच्चन द्वारा सम्मानित करने से पहले कोई संबंधित व्यक्ति के बारे में पूरी तरह जांच परख की जाती है या नहीं ? यहाँ ये भी सवाल उठता है कि KBC के माध्यम से ऐसे लोगों को सम्मनित करना और आर्थिक मदद करना उचित है !

आम्टे एनिमल आर्क संस्थान को महाराष्ट्र राज्य केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा बाकायदा मान्यता दी गई है। गौमांस के कारोबार का खुलासा भी आम्टे एनिमल आर्क की 2017-18 की वार्षिक रिपोर्ट से ही हुआ हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक इस वर्ष 10 हज़ार किलो बीफ की खपत हुई है जिसकी कीमत 110 रूपये प्रति किलो ग्राम के हिसाब से 11 लाख रूपये होती है। इस केंद्र की रिपोर्ट पर गौर करें तो यह तथ्य उजागर होता है कि इस केंद्र पर अन्य सभी पशुओं के मीट से ज्यादा गाय के मीट की खपत है जबकि गाय के दूध की खपत 4000 हज़ार लीटर ही है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार है जो गौहत्या के खिलाफ है। गौहत्या और गौमांस कि बिक्री पर राज्य में पूर्ण प्रतिबंद होने के बावजूद आम्टे एनिमल आर्क की यह सालाना रिपोर्ट सरकार के गौहत्या और गौमांस प्रतिबंध पर सवाल खड़े कर रही है। इसकी गहराई से जाँच होनी चाहिए कि इस कारोबार को मान्यता किसने और किस आधार पर दी है।

 

इंडियन पीपल फॉर एनिमल के मुख्य राष्ट्रिय ट्रेनर नरेश कादियान ने महाराष्ट्र सरकार की छत्र छाया में चल रहे बीफ के कारोबार के खिलाफ केंद्रीय पशुपालन, डेरी और फिशरी विभाग के मंत्रालय को शुक्रवार को शिकायत दर्ज़ करवाई है।अपनी शिकायत में श्री कादियान ने कहा है कि महाराष्ट्र में गाय हत्या और बीफ की बिक्री पूर्णतया प्रतिबंधित होने के बावजूद आम्टे एनिमल आर्क गाय हत्या को बढ़ावा देने की हिम्मत किस तरह कर रहा है। OIPA इंडियन पीपल फॉर एनिमल व स्काउट्स और गाइड फॉर एनिमल एनिमल एवं बर्ड्स कि और से गौ मांस के कारोबार से जुड़े सभी लोगों व गौमांस प्रमोटरों सहित सभी अपराधियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने व गोमांस खपत को रोकने के लिए तत्काल कदम उठाने के लिए को कहा है। विभाग ने नरेश कादियान की शिकायत को क्रमांक DOAHD/E/2018/00343 पर पंजीकृत करते हुए मामले कि जाँच शुरू कर दी है।

प्रकाश आम्टे के परिवार के बारे में जानने के लिए लिंक पर क्लिक करें
prakash amte family – Google Search

 

Related Articles

Close