हरियाणा

किसानो को प्रति एकड़ उत्पादन बढ़ाने के साथ-साथ प्रति व्यक्ति आय बढ़ाने की भी जरूरत:- आयुक्त दीप्ति उमा शंकर

कुरूक्षेत्र 6 नवम्बर (मैनपाल कश्यप / शिव बत्रा )
      किसान को कम जमींन में अधिक आय लेने के लिए पौध उत्पादन के कार्य को आगे बढ़ाने की जरूरत है। इस व्यवसाय से प्रति एकड़ उत्पादन तो बढ़ता ही है साथ ही प्रति व्यक्ति आय बढऩे के रास्ते भी आसान होते है। यह बात अंबाला मंडल की आयुक्त दीप्ति उमा शंकर ने डाडलू गांव के पौध उत्पादक किसान हरबीर सिंह की नर्सरी का दौरा करने उपरांत किसानों से बातचीत करते हुए कही। आयुक्त ने कहा कि हरियाणा सरकार ने किसानों की प्रति एकड़ आय बढ़ाने के लिए अनेक महत्वकांक्षी स्कीमें चलाई है। इन स्कीमों के तहत किसान अच्छी पौध के साथ-साथ अच्छी फसल तैयार करके अपना सामाजिक और आर्थिक स्तर बेहतर बना सकते है। किसानों को चाहिए कि वे सरकार की किसान हितेषी स्कीमों का भरपूर लाभ उठाएं। उन्होंने यह भी कहा कि जैविक तरीके से तैयार की गई पौध से पैदा होने वाली फसल स्वास्थ्य के लिए बेहतरीन मानी जाती है। इसलिए किसानों को चाहिए कि वे सब्जियों और फलों की पौध जैविक तरीके से तैयार करें। मौके पर उपस्थित किसान हरबीर ने पूछने पर बताया कि वह कई वर्षों से अपनी लगभग 15 एकड़ जमीन में लगी नर्सरी में टमाटर, शिमला मिर्च, प्याज, गोभी, फूल गोभी, ब्रोकली, लोटस, गेंदा, पपीता आदि की पौध तैयार करके किसानों को सस्ते दामों पर बेचता है। इतना ही नहीं किसानों को पौध तैयार करने का प्रशिक्षण भी देता है। आयुक्त ने किसान की कार्यशैली की प्रंशसा करते हुए कहा कि यह एक अच्छा तरीका है। अन्य किसानों को भी इस किसान से प्रेरणा  लेने की जरूरत है। उन्होंने यह भी बताया कि उनकी नर्सरी को देखने के लिए कई विदेशी किसान और वैज्ञानिक भी आ चुके है और उन्होंने स्वयं भी इंगलैड, कनाडा, दुबई, हांगकांग, चाईना, और थाईलैंड इत्यादि देशों के किसानों के साथ तकनीकी का आदान-प्रदान किया है ताकि वहां के किसान भी अच्छी पौध लगाकर आय के अच्छे संसाधन स्थापित कर सके।

Donate Now
Back to top button
x

COVID-19

India
Confirmed: 34,108,996Deaths: 452,651
Close
Close