Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Breaking Newsकेरलदुनियाराजनीती

सबरीमाला: ऑल केरल ब्राह्मण एसोसिएशन पहुंची सुप्रीम कोर्ट दाखिल की पुनर्विचार याचिका

Spread the love
  • कानून पर पड़ रही है आस्था भारी,

  • महिलाओं के प्रवेश पर विरोध जारी

  • महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दिए जाने के विरोध में हिन्दू संगठनों का केरल बंद

  • प्रशासन की तरफ से सन्नीधानम, पंबा, निलक्कल और ईलावुंगल में धारा 144 लागु

 

केरल के सबसे प्रसिद्ध सबरीमाला अयप्पा स्वामी मंदिर के द्वार सभी उम्र की महिलाओं के लिए खोलने पर जारी विरोध बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच सबरीमाला मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के रिव्‍यू के लिए ऑल केरल ब्राह्मण एसोसिएशन सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। उन्‍होंने अपनी याचिका में कहा है कि कोर्ट के फैसले में गंभीर त्रुटियां हैं जिसके परिणामस्‍वरूप अयप्‍पा के असली भक्‍तों के साथ घोर अन्‍याय हुआ है।
सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ऑल केरल ब्राह्मण एसोसिएशन ने पुनर्विचार याचिका दाखिल की है। इस याचिका में कहा गया है कि 28 सितंबर को आया फैसला पूरी तरह से तर्कहीन है और फिर से अपने फैसले पर विचार करना चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट की ओर से महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दिए जाने के विरोध में कई हिन्दू संगठनों ने केरल बंद बुलाया है। राज्य में सिर्फ इक्का-दुक्का वाहन चलते दिखाई दे रहे हैं। यह बंद बुधवार को प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के हमले को लेकर बुलाया गया है।
एहतियात के तौर पर प्रशासन की तरफ से सन्नीधानम, पंबा, निलक्कल और ईलावुंगल में धारा 144 लगा दी गई है।
बुधवार को मंदिर के कपाट खुलने के बाद महिलाओं को इसमें प्रवेश नहीं करने दिया गया। पंबा की पहाड़ी चढ़कर मंदिर में प्रवेश की कोशिश कर रहीं न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकार सुहासिनी राज और उनके साथी को प्रदर्शनकारियों ने वापस भेज दिया। सुहासिनी राज और उनका साथी रिपोर्टिंग के लिए मंदिर की तरफ जा रहे थे।

Close