Breaking News राजनीती हरयाणा

हुड्डा कांग्रेस में अपनी हैसियत बताएं फिर करें बुढ़ापा पेंशन 3 हज़ार का वायदा : अभय चौटाला

हुड्डा हरियाणा को कर्ज के बोझ तले दबाने का जिम्मेदार:चौटाला
राजेंद्र कुमार
सिरसा, 13 जून। भूपेंद्र सिंह हुड्डा कांग्रेस में न तो कांग्रेस के प्रभारी हैं, नहीं विधायक दल के नेता हैं और न ही वे हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष हैं, लेकिन इसके बावजूद भी हुड्डा यह बयान देते हैं कि सरकार में आने पर कांग्रेस पैंशन 3 हजार कर देगी। यह सवाल हरियाणा विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा द्वारा बुढ़ापा पेंशन बढ़ाने के वायदे पर उठाया । अभय चौटाला आज यहां अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

हरियाणा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष एवं ऐलनाबाद के विधायक अभय सिंह चौटाला ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि हरियाणा को कर्ज के बोझ तले दबाने का जिम्मेदार बताया। अभय चौटाला ने कहा कि हुड्डा आज कहते हैं कि हरियाणा पर 1 लाख 60 हजार करोड़ का कर्ज है। अभय ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि हरियाणा गठन के 1966 से 2005 तक हरियाणा पर 23 हजार करोड़ का कर्ज था। हुड्डा के मुख्यमंत्री बनने के बाद हरियाणा पर 70 हजार करोड़ का कर्ज हो गया। अभय चौटाला ने कहा कि कर्ज लेकर हुड्डा ने हरियाणा का विकास नहीं करवाया, बल्कि अपने चेहतों की जेबें भरने का ही काम किया। अभय चौटाला आज यहां अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि आज भूपेंद्र सिंह हुड्डा कांग्रेस में न तो कांग्रेस के प्रभारी हैं, नहीं विधायक दल के नेता हैं और न ही वे हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष हैं, लेकिन इसके बावजूद भी हुड्डा यह बयान देते हैं कि सरकार में आने पर कांग्रेस पैंशन 3 हजार कर देगी। अभय ने इनैलो-बसपा गठबंधन के प्रति आम जनमानस का विश्वास मजबूत होने का दावा करते हुए कहा कि आज हर तबका भाजपा सरकार से उदासीन है। न तो लोगों को पानी मिल रहा है और न ही बिजली मिल रही है। कानून व्यवस्था की स्थिति दयनीय हो गई है। अभय ने सरकार की खेल नीति पर भी सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि यह सरकार प्रदेश के होनहार खिलाडिय़ों को प्रोत्साहित करने की बजाय हतोत्साहित करने में लगी हुई है। इनैलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनने पर खिलाडिय़ों को दी जाने वाली राशि दोगुणी कर दी जाएगी।
अभय चौटाला ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल पर तीखे आरोप लगाते हुए कहा है कि हरियाणा में किसी अधिकारी के रिटायर होने के बाद उस पोस्ट पर नई भर्ती प्रक्रिया अपनाने की बजाय सरकार की ओर से उसी अधिकारी को कांट्रैक्ट पर रख लिया जाता है। ऐसे में मुख्यमंत्री को भी सरकार में यह पॉलिसी अपनानी चाहिएं और जब सारा काम ही अनुबंध पर करवाना है तो पांच साल मुख्यमंत्री रहने की बजाय मनोहर लाल स्वयं भी अनुबंध पर ही काम करें। यदि उनका काम ठीक नहीं है तो उन्हें हटाकर किसी और को मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए।
फोटो विवरण:13एस आर एस:02:-सिरसा में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अभय सिंह चौटाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *